नई दिल्ली. चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में रेलवे ने बिहारवासियों को लग्जरी सुविधाओं वाली नई-नवेली ट्रेन ‘चंपारण हमसफर एक्सप्रेस’ की सौगात दी. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुरानी दिल्ली से बापूधाम-मोतिहारी के रास्ते कटिहार तक चलने वाली हमसफर एक्सप्रेस के हरी झंडी दिखाई. लेकिन चलने के साथ ही इस ट्रेन ने लेट-लतीफी का सर्टिफिकेट हासिल कर लिया. कटिहार से पहले दिन 16 अप्रैल को दिल्ली के लिए रवाना हुई हमसफर एक्सप्रेस 6 घंटे से ज्यादा की देरी से चल रही है. वहीं, दिल्ली से आज रवाना होने वाली दिल्ली-कटिहार हमसफर एक्सप्रेस भी 6 घंटे से ज्यादा की देरी से रवाना होगी. दिल्ली से इस ट्रेन के रवाना होने का नियत समय दोपहर 1.45 बजे है. लेकिन आज यह ट्रेन रात करीब 8 बजे जाएगी. बता दें कि इस ट्रेन की औपचारिक शुरुआत भी 16 अप्रैल से ही होनी थी.

Humsafar

Humsafar1

16 अप्रैल को कटिहार से दिल्ली के लिए चली और 17 अप्रैल को दिल्ली से कटिहार जाने वाली हमसफर एक्सप्रेस के लेट चलने की जानकारी.
16 अप्रैल को कटिहार से दिल्ली के लिए चली और 17 अप्रैल को दिल्ली से कटिहार जाने वाली हमसफर एक्सप्रेस के लेट चलने की जानकारी.

 

10 अप्रैल को पीएम मोदी ने दिखाई थी हरी झंडी
पीएम नरेंद्र मोदी चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष समापन समारोह में भाग लेने बीते 10 अप्रैल को बिहार के मोतिहारी गए थे. उसी दौरान उन्होंने उत्तर बिहार के कई महत्वपूर्ण स्थानों को देश की राजधानी दिल्ली से जोड़ने वाली इस ट्रेन की शुरुआत की थी. पीएम मोदी ने रेलयात्रियों को सुरक्षित, तेज और आरामदायक सफर मुहैया कराने वाली हमसफर एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था. इसके अलावा इसी यात्रा के दौरान पीएम ने मधेपुरा लोकोमोटिव फैक्ट्री और देश के सबसे शक्तिशाली रेल इंजन को भी राष्ट्र को समर्पित किया था. हमसफर एक्सप्रेस के बारे में रेलवे की ओर से बताया गया था कि यह ट्रेन हफ्ते में दो दिन चलेगी और दिल्ली से रवाना होकर 15 स्थानों पर रुकते हुए यात्रियों को कटिहार तक की यात्रा कराएगी. यह ट्रेन कुल 1383 किलोमीटर की दूरी तय करेगी.

हमसफर एक्सप्रेस का किराया भी अन्य ट्रेनों से ज्यादा
यात्रियों को आरामदायक सफर देने के लिए हमसफर एक्सप्रेस में कई सुविधाएं हैं, लेकिन इसके लिए इस ट्रेन का किराया भी ज्यादा रखा गया है. ट्रेन में सिर्फ थर्ड एसी के कोच लगाए गए हैं. इसमें स्लीपर या जनरल बोगी नहीं है. इसलिए चंपारण हमसफर एक्सप्रेस का बेस फेयर 1675 रुपए रखा गया है. रेलवे के अनुसार इस ट्रेन के टिकट की अधिकतम कीमत 2681 रुपए तक हो सकती है. तत्काल सरचार्ज 880 रुपए लगेगा. वहीं 5 वर्ष से लेकर 11 साल तक के बच्चों के लिए मिनिमम किराया 879 रुपए और मैक्सिमम किराया 1319 रुपए तय किया गया है. इसके अलावा ट्रेन के सभी कोच लिंक-हॉफमैन बुश यानी एलएचबी हैं, इससे मुसाफिरों को यात्रा के दौरान पटरी पर कम झटके लगेंगे. साथ ही हर कोच में जीपीएस आधारित पैसेंजर इंफॉर्मेशन सिस्टम, ऑनबोर्ड पैंट्री सर्विस आदि सुविधाएं भी हैं.