पटना, 29 नवंबर| राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने एक और आपत्तिजनक बयान देकर फिर हंगामा खड़ा कर दिया है। मंगलवार को उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार पर टिप्पणी की। राबड़ी देवी ने नितीश कुमार के राजग में शामिल होने की खबर के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘मोदी जी नितीश कुमार को उठाकर ले जाएँ और अपनी बहन से शादी करा दें’। हंगामा खड़ा होने पर राबड़ी देवी ने सफाई दी। उन्होंने कहा कि वो तो सिर्फ मज़ाक कर रही थी।  इस बीच भाजपा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जवाब मांगा है। यह भी पढेंः कुछ लोग राजनीतिक हत्या की साजिश रच रहे: नीतीश

वैसे यह कोई पहला मामला नहीं है, जब राबड़ी ने ऐसा आपत्तिजनक बयान दिया है। इसके पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जद (यू) नेता ललन सिंह को लेकर भी पूर्व मुख्यमंत्री आपत्तिजनक बयान दे चुके हैं। यह मामला अदालत तक भी पहुंचा था। इस मामले के तूल पकड़ने राबड़ी देवी ने कहा, “मुझसे मीडिया वालों ने कहा कि सुशील मोदी कह रहे हैं कि नीतीश कुमार राजद से संबंध तोड़कर भाजपा में आ जाएं, तो हमने कहा कि मोदी जी नीतीश को गोदी में उठा लिजिए, तो इसमें कौन-सी आपत्ति है? थोड़ा हंसी-मजाक कर लिया, बस। सभी करते हैं न।”

भाजपा के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राबड़ी देवी के इस बयान को नीतीश कुमार के चरित्र से जोड़कर देखा है। उन्होंने कहा, “इस बयान के द्वारा मुख्यमंत्री के चरित्र पर प्रश्न उठाया गया है। ऐसे में मुख्यमंत्री को खुद इस बयान पर जवाब देना चाहिए।” उन्होंने कहा, “वैसे पूर्व मुख्यमंत्री के लिए यह कोई पहला मामला नहीं है। इसके पूर्व भी वह नीतीश कुमार और ललन सिंह के रिश्ते के लेकर आपत्तिजनक बयान दे चुकी हैं। यह मामला अदालत में भी पहुंचा था। बाद में मंत्री ललन सिंह ने मामले को वापस ले लिया।”