समस्तीपुर : बिहार के नारघोघी के एक मंदिर से अष्टधातु की सात मूर्तियां गायब हो गई हैं. बदमाशों ने मंदिर की सुरक्षा में तैनात दो होमगार्ड्स को बंधक बनाकर इस वारदात को अंजाम दिया. पुलिस पूरे मामले की बारीकी से छानबीन कर रही है. पुलिस का कहना है जांच की जा रही है और बदमाशों को जल्‍द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

मुख्य पुजारी और होमगार्ड्स की भूमिका संदिग्ध

समस्तीपुर ( सदर ) के उप मंडलीय पुलिस अधिकारी तनवीर अहमद ने बताया कि सरायरंजन पुलिस थाने के थाना प्रभारी को कल सुबह मूर्तियां चोरी होने की सूचना मिली थी. इसके बाद पुलिस अधीक्षक दीपक रंजन की अगुवाई में वरिष्ठ अधिकारी राम जानकी मठ मंदिर गए. पुलिस ने बताया कि मूर्तियां अष्टधातु की बनी हुईं थी और इस मामले में मुख्य पुजारी तथा मंदिर की सुरक्षा में तैनात दो होमगार्ड की भूमिका की जांच की जा रही है.

400 साल पुरानी हैं मूर्तियां

स्थानीय लोगों का दावा है कि सीता, राम, राधा, कृष्ण, लक्ष्मण और हनुमान की मूर्तियां 400 साल पुरानी हैं और उनकी कीमत करोड़ों रूपए है. अधिकारियों ने बताया कि खोजी कुत्तों को महंत के आवास पर एक दस्ताना मिला है माना जा रहा है कि चोरों ने इसे पहना होगा. मदिर के महंत को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया गया है. उन्होंने कहा कि मंदिर की सुरक्षा में तीन होमगार्ड तैनात किए गए हैं जिनमें से एक ड्यूटी पर नहीं आया था और जो दो गार्ड्स ड्यूटी पर थे उनका कहना है कि डकैतों ने उन्हें बंधक बना लिया था. पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस मामले में मंदिर से जुड़े और लोगों के भी शामिल होने का संदेह हैं क्योंकि मंदिर के दरवाजे के ताले तोड़े नहीं गए थे बल्कि खोले गए थे.