गाजियाबाद| बिहार के बक्सर जिले के जिला मजिस्ट्रेट और वरिष्ठ आईएएस अधिकारी मुकेश पांडेय का शव यहां रेल की पटरी के पास मिला. पुलिस को घटनास्थल से एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसमें संकेत मिलते हैं कि वह वैवाहिक दिक्कतों से ‘‘दुखी’’ थे. पुलिस ने बताया कि गाजियाबाद रेलवे स्टेशन से करीब एक किलोमीटर दूर रेल पटरियों पर उनका कल शव मिला. इसके अलावा, पांडेय ने सुसाइड से पहले एक वीडियो भी बनाया था, जो अब सामने आ गया है.

बिहार के बक्सर सर्किट हाउस में रिकार्ड एक कथित वीडियो में 2012 बैच के अधिकारी ने पांडेय ने बताया कि वह किस तरह अपनी जिंदगी तथा माता पिता और उनकी पत्नी के बीच निरंतर झगड़े से ऊब चुके हैं. उन्होंने पांच मिनट के वीडियो में कहा, ‘‘मेरे माता पिता और पत्नी के बीच निरंतर झगड़ा होता है. उनके झगड़े ने मेरी जिंदगी मुश्किल कर दी है. वे मुझे बहुत प्यार करते हैं लेकिन अति की मिठास कड़वी हो जाती है.’’

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनकी मौत पर शोक व्यक्त किया है. उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘वह एक सक्षम प्रशासक और एक संवेदनशील अधिकारी थे. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे.’’ 2012 बैच के आईएएस अधिकारी पांडे ने अपने कथित सुसाइड नोट में लिखा है कि वह अपने जीवन से तंग आ गये हैं और उनका ‘मानव अस्तित्व में विश्वास’ नहीं रहा.

गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एच एन सिंह के मुताबिक सुसाइड नोट में लिखा है, ‘‘मैं पश्चिम दिल्ली में जनकपुरी के डिस्ट्रिक्ट सेन्टर इलाके में इमारत की दसवीं मंजिल से कूद कर खुदकुशी कर रहा हूं… मैं जीवन से तंग आ गया हूं और मानवीय अस्तित्व में मेरा यकीन नहीं रहा. मेरा विस्तृत सुसाइड नोट दिल्ली के एक पांच सितारा होटल (नाम के साथ) के कमरा नंबर 742 में नाइके के एक बैग में रखा है. कृपया मुझे माफ कर दें, मैं आपसे प्रेम करता हूं.’’ पुलिस ने कहा कि उन्हें बाद में होटल के कमरे से ‘‘विस्तृत सुसाइड नोट’’ मिला जिसमें अधिकारी ने लिखा कि वह अपने वैवाहिक जीवन में समस्याओं से ‘‘दुखी’’ थे.

पुलिस ने कहा कि अधिकारी की एक बेटी है. राजकीय रेलवे पुलिस के अधिकारियों ने कहा कि पहली नजर में यह खुदकुशी का मामला लगता है. शव कल कोटगांव के पास रात करीब आठ बजकर 40 मिनट पर मिला. शव की पहचान उनकी जेब से मिले पहचान पत्रों की मदद से हुई.

पुलिस ने कहा कि पांडे का पोस्टमार्टम गाजियाबाद के तीन डाक्टरों ने आज किया और इसकी वीडियोग्राफी कराई गई. उन्होंने कहा कि शव को गुवाहाटी भेजा जाएगा जहां उनका परिवार रहता है और अंतिम संस्कार वहीं कराया जाएगा. खुदकुशी करने से पहले पांडे ने अपने परिजनों को संदेश भेजे थे कि वह जनकपुरी डिस्ट्रिक्ट सेंटर में खुदकुशी करने की योजना बना रहे हैं.

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पुलिस को पांडे के दोस्तों से सूचना मिली थी कि वह खुदकुशी करने जा रहे हैं और वह जनकपुरी डिस्ट्रिक्ट सेंटर गये हैं. लिस की एक टीम को तत्काल मॉल भेजा गया लेकिन वह उनका पता नहीं लगा पाई.

सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद यह पाया गया कि वह मॉल से जा चुके हैं और नजदीकी मेट्रो स्टेशन की ओर जा रहे हैं. अधिकारी ने बताया कि वहां के सीसीटीवी फुटेज की जांच के बाद उनका पता नहीं लगाया जा सका. अधिकारी ने बताया कि बाद में दिल्ली पुलिस को पता चला कि उन्होंने कथित तौर पर खुदकुशी कर ली है.