नई दिल्ली| दीवाली के बाद मांग कमजोर पड़ने से बीते अक्टूबर महीने में प्रमुख वाहन कंपनियों की बिक्री में मिला जुला रुख देखने को मिला. इस दौरान जहां मारुति, टाटा मोटर्स व टोयोटा की बिक्री बढ़ी वहीं हुंदै, फोर्ड इंडिया तथा महिंद्रा की बिक्री में गिरावट दर्ज की गई. आलोच्य महीने में जिन कंपनियों की वाहन बिक्री बढ़ी वह भी औसतन इकाई अंक में ही बढ़ी.

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) की कुल बिक्री अक्तूबर महीने में 9.5 प्रतिशत बढ़कर 1,46,446 इकाई रही जो एक साल पहले इसी महीने में 1,33,793 इकाई थी. कंपनी का कहना है कि आलोच्य महीने में उसकी घरेलू बिक्री 9.9 प्रतिशत बढ़कर 1,36,000 इकाई रही.

मिनी कार सेगमेंट में आल्टो और वैगन-आर की बिक्री इस दौरान 4.2 प्रतिशत घटकर 32,490 इकाई पर आ गई, जो अक्तूबर, 2016 में 33,929 इकाई रही थी. वहीं कॉम्पैक्ट खंड…स्विफ्ट, डिजायर, एस्टिलो और बलेनो की बिक्री 24.7 प्रतिशत घटकर 62,480 इकाई पर पहुंच गई, जो एक साल पहले इस महीने में 50,116 इकाई रही थी.

वहीं यूटिलिटी वाहनों जिप्सी, ग्रैंड विटारा, एर्टिगा, एस क्रॉस और कॉम्पैक्ट एसयूवी विटारा ब्रेजा की बिक्री 29.8 प्रतिशत बढ़कर 23,382 इकाई पर पहुंच गई, जो अक्तूबर, 2016 में 18,008 इकाई रही थी. वहीं हुंदै मोटर इंडिया लिमिडेट (एचएमआईएल) की बिक्री अक्तूबर महीने में मामूली रूप से घटकर 49,588 इकाई रही. कंपनी ने पिछले साल अक्तूबर में 50,017 वाहनों की बिक्री की थी.

एचएमआईएल के बिक्री निदेशक राकेश श्रीवास्तव ने कहा कि कंपनी की अक्तूबर बिक्री लोकप्रिय मॉडल जैसे ग्रैंड आई 10, एलिट आई 20 और क्रेटा द्वारा संचालित हुई थी. जबकि हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लीलैंड की कुल बिक्री अक्तूबर में तीन प्रतिशत बढ़कर 12,914 वाहन रही. पिछले साल इसी माह में यह आंकड़ा 12,534 वाहन था. कंपनी ने एक बयान में कहा कि उसके मध्यम और भारी वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री पांच प्रतिशत घटकर 9,110 वाहन रही जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 9,575 वाहन थी.