नई दिल्ली| हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन घरेलू शेयर बाजार भारी गिरावट के साथ बंद हुआ है. पिछले चार दिनों के ट्रेडिंग सेशन में भारतीय निवेशकों को करीब 100 बिलियन अमेरिकी डॉलर यानी 6.4 लाख करोड़ रुपये का नुकसान झेलना पड़ा है. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का मार्केट कैप अब 133.1 लाख करोड़ रुपये है. 7 अगस्त को यह अपने सर्वोच्च स्तर, 139.5 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया था.

शुक्रवार को सेंसेक्स में 318 अंकों की गिरावट के साथ 31214 अंको के करीब बंद हुआ. यह पिछले महीनों का इसका निम्नतर स्तर है. निफ्टी में 1.1 फीसदी यानी करीब 109 अंकों की गिरावट दर्ज की गई. यह 9711 अंकों पर बंद हुआ. इस सप्ताह में सेंसेक्स में कुल 1100 अकों की गिरावट दर्ज हुई है.

इस गिरावट के चलते बाजार एक महीने के निचले स्तर पर चला गया है. देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई के नतीजों में एनपीए में भारी बढ़त दिखने के चलते आज इसके शेयर में भारी गिरावट देखी गई. इसी ने बैंक शेयरों को सबसे ज्यादा नीचे खींचा. पूरे हफ्ते स्टॉक मार्केट में गिरावट का सिलसिला जारी रहा और लगातार पांचवे दिन शेयर बाजार गिरावट के लाल निशान में बंद हुआ.

शेयर बाजार की इस गिरावट को अमेरिका और उत्तर कोरिया में संभावित युद्ध के असर से जोड़ कर देखा जा रहा है. इसका खमियाजा भारतीय शेयरधारकों को भी उठाना पड़ रहा है. रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार दुनियाभर के निवेशकों को करीब एक ट्रिलियन डॉलर यानी करीब 640 खरब 85 अरब रुपये का नुकसान हो चुका है.

डीलर्स का कहना है कि भारत और चीन के बीच डोकलाम विवाद, सेबी द्वारा मंगलवार से 331 शैल कंपनियों को ट्रेडिंग से रोकना और कॉर्पोरेट सेक्टर में कमजोरी के चलते भी इस सप्ताह बाजार को नुकसान हुआ है.