मुंबई: कच्चे स्टील के प्रोडक्शन के मामले में दुनियाभर में भारत चीन के बाद दूसरे नंबर पर पहुंच गया है. भारत फरवरी महीने में कच्चे इस्पात उत्पादन में चीन के बाद दूसरे नंबर पर पहुंच गया है. स्टील यूजर्स फेडरेशन आफ इंडिया (सूफी) ने विश्व इस्पात संघ के आंकड़ों के हवाले से यह जानकारी दी है. जापान को पीछे छोड़कर भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा कच्चा इस्पात उत्पादक हो गया है.

फिलहाल चीन कच्चे इस्पात उत्पादन में पहले स्थान पर है. कुल वैश्विक उत्पादन में चीन की हिस्सेदारी 50 प्रतिशत से अधिक है. भारत का कच्चा इस्पात उत्पादन अप्रैल, 2017 से फरवरी, 2018 के दौरान इससे पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 4.4 प्रतिशत बढ़कर 9.31 करोड़ टन पर पहुंच गया. इसी वजह से भारत कच्चे इस्पात उत्पादन में जापान को पीछे कर सका है.

भारत 2015 में अमेरिका को पछाड़कर तीसरा सबसे बड़ा कच्चा इस्पात उत्पादक बना था. स्टील यूजर्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष निकुंज तुराखिया ने कहा, ”कच्चे इस्पात के प्रोडक्शन के मामले में भारत का नंबर दो पर आना सरकार की नीतियों का परिणाम है. सरकार ने इंपोर्ट को कम करके मेक इन इंडिया के तहत घरेलू प्रोडक्शन को बढ़ावा दिया, जीएसटी को लागू किया और इन्फ्रस्ट्रकचर प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाया ताकि ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्शन किया जा सके”.