नई दिल्ली. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने अपने 4.5 करोड़ सदस्यों के लिए एक नई सुविधा शुरू की है. इसके तहत कई भविष्य निधि (पीएफ) खातों को मौजूदा यूनिवर्सल पोर्टेबल खाता संख्या (यूएएन) के साथ मिलाया जा सकेगा. इस सुविधा के तहत ईपीएफओ के अंशधारक 10 पुराने खातों को एक बार में यूएएन के साथ जोड़ सकेंगे. 

PF और EPF के बीच कंफ्यूजन होगा दूर, समझें दोनों में क्या है अंतर

PF और EPF के बीच कंफ्यूजन होगा दूर, समझें दोनों में क्या है अंतर

अभी ईपीएफओ अंशधारकों को ईपीएफओ के यूएएन पोर्टल पर यूएएन का इस्तेमाल करते हुए स्थानांतरण दावा अलग-अलग ऑनलाइन करना होता है. इस सुविधा को पाने के लिए उन्हें अपने यूएएन को एक्टिवेट करना होगा. यह बैंक खातों व अन्य ब्योरे मसलन आधार और पैन से जुड़ा होगा. यूएएन एक्विटवेशन के बिना ये अंशधारक ईपीएफओ की स्थानांतरण दावा पोर्टल सुविधा के जरिये आनलाइन तरीके से इसे कर सकेंगे.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ईपीएफओ ने इस सुविधा के साथ प्रक्रिया को आसान किया है. इसका उद्देश्य ‘एक कर्मचारी-एक ईपीएफ खाता’ है.