नई दिल्ली. पंजाब नेशनल बैंक में देश का सबसे बड़ा बैंकिंग घोटाला हुआ है. पीएनबी का ये घोटाला करीब साढ़े 11000 करोड़ रुपये से अधिक का है. पीएनबी की मुंबई स्थित एक शाखा में 1.8 अरब डॉलर की धोखाधड़ी सामने आई है. बैंक की ओर से बुधवार को शेयर बाजारों के पास दिए नियामकीय दाखिले में इसकी जानकारी दी गई है. इस घोटाले में बिजनेसमैन नीरव मोदी का नाम सामने आया है. ये घोटाला सामने आने के बाद पीएनबी ने अपने 10 अफसरों को सस्पेंड भी किया है. पीएनबी ने बताया कि कुछ अकाउंट होल्डर्स को फायदा पहुंचाने के लिए ये ट्रांजेक्शन हुए हैं. इन ट्रांजेक्शंस के आधार पर कस्टमर्स को अन्य बैंकों ने विदेशों में लोन दिए गए. इस खबर के सामने आने के बाद पीएनबी के शेयर धड़ाम होकर 10 फीसदी तक टूटे. 

मुंबई में पीएनबी की ब्रांच से अरबों का फ्रॉड, 10 कर्मचारी सस्पेंड, बैंक के शेयर धड़ाम

मुंबई में पीएनबी की ब्रांच से अरबों का फ्रॉड, 10 कर्मचारी सस्पेंड, बैंक के शेयर धड़ाम

  • पंजाब नेशनल बैंक ने माना है कि कुछ लोगों की सांठगांठ के जरिए कुछ अकाउंट होल्डर्स को फायदा पहुंचाने के लिए ये ट्रांजेक्शंस हुए. बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि इस लेनदेन के आधार पर ऐसा प्रतीत होता है कि दूसरे कई बैंकों ने भी विदेश में भी इन कस्टमर्स को अडवांस भुगतान किए हैं. इससे साफ है कि दूसरे कई बैंकों पर भी इस मिलीभगत का असर पड़ सकता है. ये घोटाला ऐसा वक्त में हुआ है जब देश का बैंकिंग सेक्टर वित्तीय संकट के दौर से गुजर रहा है और सरकार ने भी कई बैंकों को मदद दी है.
  • बैंक में धोखाधड़ी का ये मामला 10 दिन से भी कम वक्त में सामने आया है. 5 फरवरी को ही केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने अरबपति हीरा उद्योगपति नीरव मोदी, नीरव मोदी की पत्नी, नीरव मोदी के भाई और एक बिजनेस पार्टनर के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था. साल 2017 में पीएनबी के साथ 280.70 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के केस में ये कार्रवाई हुई थी.
  • पीएनबी ने इस धोखाधड़ी के खिलाफ शिकायत की थी जिसके बाद नीरव मोदी, उनके भाई निशाल मोदी, पत्नी एमी और मेहुल चिनूभाई चौकसी पर बैंक अफसरों के साथ साजिश कर धोखाधड़ी करने और गलत तरीके से बैंक को नुकसान पहुंचने का केस दर्ज किया गया.

  • केंद्रीय जांच एजेंसी ने मोदी, उनके भाई निशाल, पत्नी एमी और मेहुल चीनूभाई चौकसी के घरों पर रेड भी डाली थी. इन सभी की हिस्सेदारी डायमंड्स आर यूएस, सोलर एक्सपोर्ट्स और स्टेलर डायमंड्स में है. सीबीआई ने बैंक अफसरों पर भी कार्रवाई की थी. दो अधिकारियों के घर पर रेड डाली गई.
  • नीरव मोदी व अन्य पर मनी लॉन्ड्रिंग का चाबुक भी चला है. ईडी ने पीएनबी में हुई 280 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में नीरव व अन्य के खिलाफ मनी लॉड्रिंग का केस दर्ज किया है. यह केस सीबीआई की एफआईआर के आधार पर दर्ज हुआ था. 
    जानिए कौन है अरबों रुपए के पीएनबी घोटाले का मुख्‍य आरोपी नीरव मोदी

    जानिए कौन है अरबों रुपए के पीएनबी घोटाले का मुख्‍य आरोपी नीरव मोदी

  • फाइनेंस मिनिस्ट्री ने पीएनबी के 11,300 करोड़ रुपये के घोटाले पर तमाम आशंकाओं को खारिज करते हुए कहा था कि ये मामला ‘नियंत्रण के बाहर’ का नहीं है और इसपर उचित एक्शन लिया जा रहा है.
  • ईडी ने ज्वैलर और कारोबारी नीरव मोदी के 3 ठिकानों (सूरत, मुंबई और दो दिल्ली में) पर डाली रेड. प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी के खिलाफ दर्ज 280 करोड़ रुपये के धन शोधन मामले में मुंबई स्थित कई परिसरों की तलाशी ली है.
  • नीरव मोदी फोर्ब्स की भारत के उन लोगों की सूची में भी शामिल रहे हैं जिनके पास सबसे अधिक संपत्ति है.
  • इससे पहले साल 2015 में बैंक आफ बड़ौदा में भी ऐसा ही मामला सामने आया था. दिल्ली के दो बिजनेसमैन द्वारा 6 हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का मामला प्रकाश में आया था.