नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में बीजेपी नेता डॉ. सुब्रमण्यन स्वामी का भाषण कार्यक्रम रद्द होने से नया विवाद पैदा हो गया है. डॉ. सुब्रमण्यन स्वामी को ‘अयोध्या में क्यों बने राम मंदिर?’ विषय पर कोयना मेस में बोलना था. 6 दिसंबर 2017 को रात साढ़े 9 बजे ये कार्यक्रम प्रस्तावित था. बाबरी विध्वंस के 25 साल पूरे होने के दिन ही ये कार्यक्रम रखा गया था.

बाबरी विध्वंस की 25वीं बरसी, मेरठ में चिपकाए गए भड़काऊ पोस्टर

बाबरी विध्वंस की 25वीं बरसी, मेरठ में चिपकाए गए भड़काऊ पोस्टर

जेएनयू प्रशासन ने आयोजकों को इस बारे में सूचना देकर बता दिया है कि यह भाषण रद्द कर दिया गया है. हालांकि, सीपीएम के पूर्व महासचिव प्रकाश करात का कार्यक्रम जेएनयू में किया जा रहा है. प्रशासन ने इसपर किसी तरह की रोक नहीं लगाई है. प्रकाश करात का कार्यक्रम साबरमती मेस में साढ़े 9 बजे रात में होगा.

इसपर, सुब्रमण्यन स्वामी ने एक अंग्रेजी चैनल से बात करते हुए कहा कि लेफ्ट पार्टियों में मुझे लेकर एक फोबिया है. जेएनयू प्रशासन के इस फैसले पर बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव आरपी सिंह ने कहा कि ये उनका भेदभावपूर्ण रवैया दिखाता है.