आज यानी 13 अक्टूबर को बॉलीवुड एक कलाकार का जन्मदिन है जिसे भारतीय सिनेमा का शुरुआती सुपरस्टार भी माना जा सकता है. जी हां, हम बात कर रहे हैं अशोक कुमार की. बिहार के भागलपुर शहर में 13 अक्टूबर 1911 को जन्मे अशोक कुमार फिल्म इंडस्ट्री में दादामुनि के नाम से मशहूर हुए. दरअसल अशोक कुमार को कभी एक्टर बनने का शौक नहीं था. लेकिन किस्मत ने ऐसी करवट ली कि जिस बॉम्बे टॉकीज में वो बतौर लैब असिस्टेंट काम करते थे उसी की मालकिन देविका रानी के साथ वो फिल्म ‘जीवन नैया’ से हीरो बनकर सबके सामने आए. उस दौर में भारतीय सिनेमा के किरदारों पर नाट्य मंच का प्रभाव अधिक था. लेकिन किशोर कुमार के सहज, स्वभाविक अभिनय ने उनको सबका पसंदीदा बना डाला. जिसके बाद अशोक कुमार ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा.

अशोक कुमार ने हिंदी सिनेमा को कई बड़े नाम भी दिए. उनके प्रोडक्शन तले बनी फिल्म ‘जिद्दी’ से देव आनंद ने फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा. प्राण, मधुबाला, लता मंगेश्कर, ऋषिकेश मुखर्जी और शक्ति सामंता जैसे दिगाज्जों की प्रतिभा अशोक कुमार ने ही पहचानी और उन्हें आगे बढ़ने का मौका दिया.

अशोक कुमार के जन्मदिन पर आइये देखते है उनके 5 बेहतरीन गाने.

1: रेल गाड़ी (आशीर्वाद)

2: बाबू समझो इशारे (चलती का नाम गाड़ी)

3: यह क्या कर डाला तूने (हावड़ा ब्रिज)

4: दो बिचारे बिना सहारे (विक्टोरिया नंबर 203)

5: आइए मेहरबान (हावड़ा ब्रिज)

अपने शानदार अभिनय के दम पर दादामुनि हमेशा हमारे दिलों पर राज करेंगे.