14 नवंबर को बाल दिवस यानि चिल्ड्रेन्स डे है. इस दिन भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का जन्म हुआ था. उन्हें चाचा नेहरु भी कहा जाता है. चाचा नेहरु को बच्चों से बेहद लगाव था. इसलिए इस दिन को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है. बाल दिवस मौके पर हर माता-पिता अपने बच्चे को स्पेशल फिल कराने के लिए तरफ-तरह के तरीके अपनाते हैं. सो इस खास दिन के मौके पर हम आपको बताने जा रहे हैं उन बॉलीवुड की 5 फिल्मों के बारे में जिन्हें देखकर बच्चे काफी कुछ सीख सकते हैं. हालांकि बच्चों पर काफी कम फिल्में बनी हैं. लेकिन फिर भी ये फिल्में अपने आप में बेहद खास हैं.

इस लिस्ट में सबसे पहले नाम आता है आमिर खान की फिल्म ‘तारे जमीं पर’ का. हर बच्चा स्पेशल होता है की थीम पर बनी इस फिल्म में एक ऐसी बताई गई है जो पढ़ाई में बहुत ही कमजोर है जिसके कारण हर कोई उसे हमेशा डांटते हैं. लेकिन वो पेंटिंग काफी बेहतर बना लेता है. जिसे उसका टीचर पहचान लेता हैं और सबके सामने उसके इस खास हुनर को लाता है.

mr.india

दूसरी फिल्म है अनिल कपूर और श्री देवी की ‘मिस्टर इंडिया.’ शेखर कपूर द्वारा डायरेक्ट की गई इस फिल्म को हिंदी सिनेमा के इतिहास में बच्चों के लिए बनी सबसे बेहतरीन फिल्म माना जाता है. अनाथ बच्चों को अपने घर में रखनेवाले अनिल कपूर किस तरह हर मुश्किल में का सामना मिलकर करते हैं. यही इस फिल्म में दिखाया गया है. इस फिल्म का असली मकसद लोगों को ये बताना था कि हर मुश्किल हालात को मिलकर सामना करना चाहिए.

stanley ka dabba

डायरेक्टर अमोल गुप्ते की फिल्म ‘स्टेनली का डिब्बा’ भी बच्चो के लिए एक शानदार फिल्म मानी जाती है.

i am kalam

नेशनल अवॉर्ड विनिंग फिल्म ‘आय एम कलाम’ भी बच्च्चों के लिए एक आदर्श फिल्म है. हालात कैसे भी हो लेकिन उसे पूरा करने का जस्बा बनाए रखने की यह कहानी भी बेहद खास है. जिसे हर बच्चे को देखनी चाहिए.

chillar party

डायरेक्टर नितेश तिवारी की फिल्म चिल्लर पार्टी भी एक शानदार फिल्म है. कैसे अपने एक डॉग को बचाने के लिए सोसायटी के सारे बच्चें एक नेता से मुकाबला करते हैं. एकजुट और समान अधिकार की बात करनेवाली इस फिल्म को शानदार अंदाज में दिखाया गया है.