विद्या बालन और अर्जुन रामपाल अपनी आगामी फिल्म “कहानी-2” के प्रमोशन के लिये दिल्ली पहुंचे। इस मौके पर कहानी-2 की स्टार कास्ट के साथ फिल्म निर्देशक सुजॉय घोष भी मौजूद रहे।

करीब चार साल पहले रिलीज़ हुई “कहानी” के बाद फिल्म “कहानी-2” 2 दिसंबर को सिनेमाघरों में रिलीज़ होगी। सुजॉय घोष द्वारा निर्देशित ‘कहानी 2’ में विद्या बालन के साथ अर्जुन रामपाल भी मुख्य भूमिका में नज़र आएंगे।

विद्या इस फिल्म में दुर्गा रानी सिंह का किरदार निभा रही है। इस फिल्म में उन्होंने विद्या सिन्हा (‘कहानी’ का किरदार) के अतीत का खुलासा किया है, जिसका संबंध दुर्गा रानी से है, दुर्गा पर अपहरण और हत्या का आरोप है। यह भी पढ़ें: ‘कहानी 2’ के टीजर में देखिए विद्या बालन के दमदार अभिनय की एक झलक

अपनी फिल्म “कहानी-2” के प्रमोशन के लिये दिल्ली पहुंचे विद्या बालन और अर्जुन रामपाल के साथ निर्देशक सुजॉय घोष ने India.com से विशेष बातचीत की।

व्यूवर्स के लिये इंटव्यू के कुछ अंश

PC- Komal Badodekar
PC- Komal Badodekar

सवाल: फिल्म कहानी के बाद कहानी-2 को आने में इतना टाइम क्यूं लगा।

इस सवाल का जवाब देते हुए विद्या बालन ने बताया कि सुजॉय ने इस फिल्म की कहानी चार साल पहले ही विद्या को सुनाई थी लेकिन इसके बाद सुजॉय इसकी स्क्रिप्ट लेकर विद्या के पास पहुंचे जो विद्या को काफी पसंद आई।

सवाल: फिल्म में आप एक प्रेग्नेंट वुमन है तो कितना जोखिम भरा था दुर्गा का किरदार निभाना।

जवाब में विद्या ने बताया कि जोखिम तो उठाना पड़ता है। रिश्तों को निभाना इतना ज्यादा कठिन नहीं होता लेकिन जब कोई इस तरह का रोल हो तो थोड़ा पेचिदा मामला होता है और इसमें मज़ा भी आता है।

सवाल: “कहानी-2” के ट्रेलर लॉन्चिंग के दौरान आप रिक्शा से थियेटर पहुंचे थे।

इस बात पूरा घटनाक्रम बताते हुए विद्या ने बताया कि मैं फिल्म में दुर्गा के रोल में हूं तो मेरे दिमाग में आइडिया आया कि मुझे रोल के मुताबिक रिक्शा से ही जाना चाहिये। ऑटो वाला मुझे थियेटर लेकर पहुंचा और जैसे ही मैं ऑटो से उतरी तो सारे कैमरा मेरी तरफ घूम गए। ऑटोवाला हैरान हो गया कि आखिर मैडम है कौन?

इसके बाद विद्या ने मैनेजर से ऑटो वाले को पैसे देने किये कहा। इस दौरान बड़ी ही जिज्ञासा के साथ मैनेजर से पूछा कि आखिर ये मैडम है कौन? जानने के बाद ऑटो वाला भी दंग रह गया…विद्या इस बात से काफी खुश हुई कि मैं दुर्गा के रोल में हूं और ऑटो वाले ने मुझे पहचाना नहीं।

PC- Komal Badodekar
PC- Komal Badodekar

फिल्म में पुलिस की भूमिका निभाने पर पूछे गए सवाल में अर्जुन रामपाल ने बताया कि मेरा रोल नवाज से अलग है। हर किरदार की अपनी अलग खासियत होती है।

नोटबैन को लेकर पूछे गए सवाल में अर्जुन रामपाल ने कहा कि ये हमारे देश के भविष्य के लिये काफी अच्छा फैसला है। इसके लिये थोड़ी बहुत दिक्कतों का सामना तो करना ही पड़ेगा। लेकिन जल्द ही सबकुछ पहले जैसा सामान्य हो जाएगा।

PC- Komal Badodekar
PC- Komal Badodekar

सुजॉय से पूछे गए सवाल में उन्होने कहा कि फिल्म में कहानी और स्क्रिप्ट जान होती है और ये जान ढंढने में ही चार साल लग गए।

फिल्म के किरदारों को लेकर उन्होंने बताया कि शुरू में तो कुछ तय नहीं था लेकिन स्क्रिप्ट लिखते-लिखते तय हुआ कि कौन किस रोल के लिये बेस्ट होगा।

सस्पेंस को लेकर पूछे गए सवाल में सुजॉय ने सभी से निवेदन करते हुए कहा कि प्लीज़ आप सभी 2 दिसंबर को फिल्म देखने जाएं।