‘दंगा’ किसी का सगा नहीं होता. सब इंसानियत भूल जाता है. बच्चे-बूढ़े किसी को नहीं बख्शता. औरतों की इज्जत लूटता. बच्चों को रुलाता. एक इंसान को जानवर बना देता. ये जो ‘दंगा’ है ना जनाब, ये किसी का भला नहीं करता. बस लोगों के दिलों में कभी न भूलने वाला एक दर्द दे जाता है.

gurdas1

हम बात कर रहे हैं पंजाब के मशहूर सिंगर गुरदास मान की नयी म्यूजिक अलबम ‘पंजाब’ का नया गीत ‘‘मितर पियारे नूं’ के बारे में. जिसे दिल्ली में लॉन्च किया गया. इस अलबम के दो गीत ‘पंजाब’ और ‘मखना’ पहले ही रिलीज़ हो चुके हैं जो लोगों को खूब पसंद आ रहे हैं. यह अलबम का तीसरा ट्रैक है. यह सिर्फ एक गीत ही नहीं है बल्कि सिख धर्म का भजन है जिसे शबद कहते हैं. इस म्यूजिक वीडियो को गुरदास मान के बेटे गुरिक मान ने डायरेक्ट किया है. एक नजर आप भी देखिए ये गाना जो हमें न जाने कितनी मौतें मार जाता है.

इस वीडियो में 1984 के दंगे, और भारत-पाकिस्तान के बंटवारें के दर्द को बखूबी फिल्माया गया है जिसे देखकर आपकी आंखें भी नम हो जाएंगी. जाएगीं. वीडियो की शुरुआत हवा में तैरती एक लकड़ी की तख्ती से होती है जिसपर लिखा है ‘गॉड इज वन’. भगवान एक है. इस गाने का मैसेज विश्व शांति का है. इस गाने को फिल्माते वक्त रो पड़े थे गुरदास मान के बेटे गुरिक मान.

इस गानें के डॉयरेक्टर गुरिक मान ने इंटरव्यू के दौरान इंडिया.कॉम की संवाददाता पूजा बत्रा से बात करते हुए कहा, हम हमेशा किसी के मरने के बाद ही क्यों शांति की कामना करते हैं. मरने के बाद तो मिलगी ही. लेकिन जिंदा रहते हुए हमारी जिंदगी में शांति और प्यार का रहना ज्यादा जरूरी है. ये गाना उसी शांति की बारे में बताता है.