निर्देशक गुरिंदर चड्ढा की आनेवाली फिल्म ‘पार्टिशन: 1947’ में हुमा कुरेशी और मनीष दयाल मुख्य भूमिका निभा रहे है. भारत के विभाजन में लार्ड माउंटबेटन की संदिग्ध भागीदारी को दिखाती इस फिल्म में दिवंगत दिग्गज अभिनेता ओम पुरी भी दिखेंगे. इसी फिल्म के प्रमोशन के सिलसिले में हुमा कुरैशी और निर्देशक गुरिंदर चड्ढा दिल्ली पहुंचे. ब्रिटेन के दर्शकों के लिए इस फिल्म का नाम ‘वाइसराय हाउस’ दिया गया है.

फिल्म की विशिष्टता के बारे में पूछने पर हुमा ने कहा, ‘यह मेरे लिए एक विशेष फिल्म है और यह मेरे लिए बहुत बड़ी उपलब्धि भी है कि इसके जरिये मुझे सबके प्रिय और समीक्षकों द्वारा प्रशंसित निर्देशक गुरिंदर चड्ढा के साथ काम करने का एक बड़ा मौका मिला. यह एक बेहद खूबसूरत फिल्म है, जिसे उन्होंने बनाया है. इस फिल्म की कहानी बहुत ही दमदार है और इसके जरिये उस विभाजन के कई अनछुए पहलुओं पर प्रकाश डाला गया है, जो बताता है कि विभाजन के दौरान कितनी साजिशें रची गई थीं. इस फिल्म को देखते पर विभाजन के पीछे की सटीक साजिश के बारे में पता चलेगा. चूंकि, यह हमारा इतिहास है, इसलिए हम सबको इसके बारे में पता होना चाहिए.’

हुमा ने कहा कि, ‘यह एक प्रतिशोधात्मक फिल्म नहीं है और न ही ब्लेम गेम खेलने वाली फिल्म है. यह वास्तव में बताती है कि असल में विभाजन के दौरान क्या हुआ था. यह एक भावनात्मक फिल्म है, जो विभाजन और उसके दर्द का सामना करने वाले लोगों के दुःख के बारे में बताती है. सच तो यह है कि यह फिल्म विभाजन के लिए नहीं, बल्कि लोगों को एकजुट करने के इरादे से बनाई गई है. विभाजन बहुत संवेदनशील विषय है. इस पर लोगों की मजबूत प्रतिक्रिया होगी. यह फिल्म शांति और मानवता पर आधारित है. यह लोगों को विभाजित करने के बजाय एकजुट करने के इरादे से बनाई गई है. यह भारत के विभाजन पर आधारित है. इतना ही नहीं, फिल्म में भारत के आखिरी वायसरॉय, लॉर्ड माउंटबेटन के समय की कहानी दिखाई गई है.