फिल्मकार करण जौहर का कहना है कि कोरियोग्राफर व फिल्मकार फराह खान किस हद तक काम के प्रति ईमानदार और पेशेवर हैं, इसे इस बात से समझा जा सकता है कि उन्होंने यशराज फिल्म्स की 1995 में आई फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ के गानों को कोरियोग्राफ करने से इसलिए मना कर दिया था क्योंकि वह एक मराठी फिल्म में काम करने का वादा कर चुकी थी. एक बयान के मुताबिक, टीवी शो ‘इंडियाज नेक्स्ट सुपरस्टार्स’ की प्रतिभागी श्रुति शर्मा ने फराह के सम्मान में डांस किया तो शूटिंग के दौरान शो के जजों में से एक करण खुद को उनकी (फराह) तारीफ करने से नहीं रोक सके.

Image result for dilwale dulhania le jayenge

करण ने कहा, “मैं फराह को बहुत पसंद करता हूं. वह बहुत पेशेवर हैं और जो चाहती हैं, उसके प्रति दृढ़ प्रतिज्ञ हैं. मुझे याद है जब हम ‘डीडीएलजे’ (‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’) की शूटिंग कर रहे थे और यश चोपड़ा और आदित्य चोपड़ा ने व्यक्तिगत रूप से फराह को फिल्म के सारे गाने कोरियोग्राफ करने के लिए फोन किया था.”

Image result for dilwale dulhania le jayenge india.com

उन्होंने कहा, “अपने करियर के किसी पड़ाव पर इन दो दिग्गजों के साथ काम करने का सपना हर कोई देखता है और फराह को शुरुआती दौर में ही यह मौका मिल रहा था. लेकिन, उन्होंने यह फिल्म करने से इसलिए मना कर दिया क्योंकि वह एक मराठी फिल्म में काम करने को लेकर प्रतिबद्ध थीं.

फिल्म की टीम ने बाद में इसके गाने ‘रुक जा ओ दिल दीवाने’ को भारत में फिल्माया और इसकी कोरियोग्राफी की जिम्मेदारी फराह को ही दी.

(इनपुट आईएनएस)