जगह कश्मीर का कठुआ जिला. 8 साल की मासूम बच्ची.  7 दिन तक भूख से तड़पती. बिलखती. कराहती. घुटती. हर सांस इस उम्मीद से लेती कि कोई तो आता और इन वेहशी जानवरों के चुंगल से छुड़ा लेता. हाथ-पैर मारती. भागने की कोशिश करती और फिर शिथिल हो जाती, हमेशा के लिए. वक्त गवाह है उसके तड़पने का. नशीली दवाओं से सुन्न पड़ी वो बच्ची. कई दिन कई बार गैंगरेप का दर्द झेलती रही. फिर उसे सिर पर पत्थर मारकर बेहरमी से मार दिया गया. यह दिल दहला देने वाली घटना एक धार्मिक स्थल (देवस्थान) पर हुई.इस दर्दनाक मामले में अभिनेता फरहान अख्तर ने अपनी कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए 8 वर्षीय बच्ची के लिए न्याय की मांग की है.फरहान ने लिखा, “कल्पना कीजिए उस 8 साल की बच्ची के दिमाग में क्या चल रहा होगा, जिसे नशे की हालत में, बंधी बनाकर, कई दिनों तक बलात्कार और फिर हत्या कर दी गई हो. यदि आप उसे आतंक नहीं मानते हैं, तो आप इंसान नहीं हैं. यदि आप उसके लिए न्याय की मांग नहीं करते हैं, तो आप कुछ भी नहीं हैं.”  फरहान के अलावा और भी कई सेलिब्रेटीज ने गैंगरेप के आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने की मांग की है.


बता दें, अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक, बच्ची के पिता ने 12 जनवरी को हीरानगर पुलिस स्टेशन में बेटी के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी. उनके मुताबिक, लड़की जानवरों को चराने के लिए 10 जनवरी को दोपहर 12.30 बजे नजदीक के जंगल में गई थी. तब से लापता है. पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया और शुरुआती जांच के बाद सांजी राम के भतीजे को गिरफ्तार कर लिया. मामला यहीं नहीं रुका. पूरे क्षेत्र में इस मामले में पुलिस पर लीपापोती का आरोप लगाकर प्रदर्शन किया. विपक्ष ने सरकार को घेरा. और अंत में मामले को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया. क्राइम ब्रांच की चार्जशीट के मुताबिक, इस पूरे षडयंत्र का मास्टरमाइंड सांजी राम है. उसने ही इस बच्ची के अपहरण और हत्या की साजिश रची.

 

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.