आज के दौर में ज्यादातर सिंगर के गाने इसलिए भी पॉपुलर होते है क्योंकि उसे किसी बड़े स्टार पर फिल्माया जाता है. लेकिन क्या एक आवाज किसी को बॉलीवुड का सुपरस्टार बना सकती है. आज के दौर में ये सोचना नामुमकिन जैसा लगता है. लेकिन बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना को सुपरस्टार बनाने में बहुत बड़ा रोल किशोर दा का भी है. जी हां, ‘मेरे सपनों की रानी कब आएगी तू’, ‘रूप तेरा मस्ताना’ और ‘ये शाम मस्तानी’ जैसे कई लोकप्रिय गीतों से राजेश खन्ना रातोंरात स्टार बने तो इसके पीछे किशोर कुमार का ही हाथ था.

मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में गांगुली परिवार में जन्मे आभास कुमार गांगुली ने फिल्मी दुनिया में अपनी पहचान किशोर कुमार के नाम से बनाई. मशहूर अभिनेता अशोक कुमार के तीन भाइयों में किशोर कुमार सबसे छोटे थे उन्हें बचपन से गाने का शौक था. दोस्तों के साथ मिलकर किशोर कुमार अपने कॉलेज की कैंटीन में खूब मस्ती गाना बजाना किया करते और अलग अलग धुन निकालते थे. लेकिन अपने बड़े भाई अशोक कुमार के नक्शेकदम पर चलते हुए किशोर भी फिल्‍मों में किस्‍मत आजमाने मुंबई आ गए. फिल्मों में अभिनेता के तौर उनकी शुरुआत 1946 की  फिल्‍म ‘शिकारी’ से हुई. लेकिन पहली बार गाने का मौका मिला फिल्‍म ‘जिद्दी’ में. शुरूआती वक़्त में गायक के तौर पर किशोर कुमार बहुत अधिक गंभीरता से नहीं लिया जाता था. लेकिन जब एसडी बर्मन ने उन्हें किसी को कॉपी करने के बजाय खुद का स्‍टाइल अपनाने की सलाह दी. तो इसके बाद तो उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. उन्होंने हर मूड के गाने गाए. रोमांटिक, मस्‍ती और दर्द भरे हर नगमे उनकी आवाज से सजकर लोगों के दिल में उतर जाते थे.

आखिरी वक़्त में किशोर दा अपने गांव खंडवा लौट जाने का फैसला किया. लेकिन उनका यह सपना पूरा नहीं हो सका. 13 अक्टूबर, 1987 को उनके बड़े भाई अशोक कुमार का जन्मदिन था उसी दिन उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हो गई. उन्हें उनकी मातृभूमि खंडवा में ही दफनाया गया. वह भले ही आज हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनकी खूबसूरत आवाज मधुर गीतों के रूप में आज भी लोगों के दिलों में बसते हैं. उनकी पुण्यतिथि के मौके पर आइए सुनते हैं उनके गाए 10 सदाबहार गाने.

तेरे मेरे मिलन की ये रैना (अभिमान)

मेरे सपनों की रानी (आराधना)

जाने जान ढूंढता (जवानी दीवानी)

एक लड़की भीगी भागी सी (चलती का नाम गाड़ी)

एक मैं और एक तू (खेल खेल में)

रूप तेरा मस्ताना (आराधना)

हमें तुमसे प्यार कितना (कुदरत)

तुम आ गये हो नूर आ गया है (आंधी)

भीगी भीगी रातों में (अजनबी)

ओ मेरे दिल के चैन (मेरे जीवन साथी)

किशोर कुमार हमेशा हमारे दिलों में जिंदा रहेंगे.