काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान की बेल याचिका पर शनिवार को सुनवाई होगी. जोधपुर कोर्ट के फैसले से बॉलीवुड सेलेब्स में उदासी की लहर है. सलमान के फैन्स और कई सेलब्स ने कोर्ट के इस फैसले पर निराशा जताई है. देश में नहीं बल्कि पाकिस्तान में भी सलमान की सजा को लेकर लोग अपना रिएक्शन दे रहे हैं. एक्ट्रेस मावरा होकेन ने सोशल मीडिया में सलमान के सपोर्ट में एक ट्वीट किया है जिससे वो ट्रोल हो गईं हैं. उन्होंने सलमान के सपोर्ट में ट्वीट कर लिखा- ऐसे संसार में जहां कोई मानव अधिकार नहीं हैं. एक बेहतरीन इंसान को जानवर को मारने के लिए सजा दी जा रही है. अगर आप मुझे इसके लिए ट्रोल करना चाहते हैं तो कर सकते हैं, लेकिन ये फैसला बिल्कुल गलत है.

मावरा के इस ट्वीट के बाद लोगों ने मावरा की जमकर आलोचना की है. एक यूजर्स ने लिखा है कि ये वही सलमान है जिस पर हिट एंड रन केस का आरोप है और जिसने फीमेल रिपोर्टर को धमकी दी थी औऱ आप इसे सही ठहरा रही हैं. सलमान हर उस बात का उदाहरण है जो हमारे समाज में गलत है.

☀️🌺🌺💫 #Blessed #happytobealive #MawraHocane #bkk x

A post shared by MAWRA 🏆 (@mawrellous) on

बता दें, काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान की जमानत याचिका पर कल सुनवाई होगी. सलमान की आज की रात फिर जेल में कटने वाली है. पांच साल की सजा होने के बाद बॉलीवुड के ‘सुल्तान’ सलमान खान को एक ब्रांड के रूप में भारी नुकसान हो सकता है. सलमान काफी वक्त से इंडस्ट्री में अपनी बैड ब्वॉय की छवि सुधारने की कोशिश कर रहे थे लेकिन वक्त है कि उनका साथ नहीं देता. सजा के ऐलान के साथ ही जेल भेजे गए सलमान को बीती रात जमीन पर सोना पड़ा. उन्हें कुछ कंबल दिए गए थे. सूत्रों ने यह भी बताया है रात को उन्होंने जेल में कुछ नहीं खाया. जेल के मेनू में पत्ते गोभी की सब्जी और रोटी थी, जो सलमान को पसंद नहीं आई. 

सलमान खान को मिला प्रीति का साथ सेंट्रल जेल में हुई दोनों की मुलाकात

सलमान खान को मिला प्रीति का साथ सेंट्रल जेल में हुई दोनों की मुलाकात

सलमान बने कैदी नंबर 106
फैसला सुनाते वक्त सलमान की बहनें अलवीरा और अर्पिता भी यहां मौजूद थीं और फैसला सुनते ही रो पड़े. सलमान भी मायूस हो गए और अपनी बहनों को गले लगा लिया. इसके बाद पुलिस ने उन्हें तुरंत हिरासत में ले लिया और जोधपुर जेल ले गई. यहां सलमान का मेडिकल कराया गया. उन्हें बैरक नंबर 2 में कड़ी सुरक्षा में रखा गया है. सलमान यहां कैदी नंबर 106 बने हैं. यहां उन्हें सामान्य कैदी की तरह रहना होगा और कोई वीआईपी ट्रीटमेंट नहीं मिलेगा.