लड़कियां अपनी बाहरी सुंदरता पर काफी ध्यान देती है, इसी वजह से उनके कपड़े अमूमन साफ सुथरे और अच्छे होते हैं। लेकिन बात जब अंडरवियर की आती है तो लड़कियां लापरवाही करने लगती हैं। उन्हें शायद इस बात की ज्यादा जानकारी नहीं होती कि उनके प्राइवेट पार्ट इनके नाज़ुक और संवेदनशील होते हैं कि अगर वो अपने अंडरवियर को लेकर लापरवाही करें तो उन्हें यीस्ट इंफेक्शन और दूसरी गंभीर समस्या हो सकती हैं।  ख़ासतौर पर रात में सोते वक्त अंडरवियर का खास ख्याल रखना चाहिए। आइये हम आपको बताते हैं कि हर लड़की को रात में सोने से पहले अंडरवियर से जुड़ी किन 5 ज़रूरी बातों को चेक करना जरूरी है।

कॉटन अंडरवियर पहनें – कॉटन यानी सूती कपड़ा लड़कियों की वैजाइना को रात में फ्रेश रखने में मदद करता है। ये काफी कोमल होता है। ये वैजाइना की नमी को सोख लेता है और यीस्ट ग्रोथ नहीं होने देता। लेकिन याद रखें कि ये जल्दी गंदा भी होता है इसलिए रात को सोते हुए धुला हुआ कॉटन अंडरवियर पहनें।

थॉन्ग को कहें न – लड़कियों को थॉन्ग काफी पसंद होते हैं। खासतौर पर वो लड़कियां जो लो वेस्ट ट्राउज़र या जींस पहनती हैं। भले ही आप दिन में थॉन्ग पहनती हों लेकिन कोशिश करें कि रात में इन्हें न पहनें। ये काफी टाइट होते हैं, इससे आपको बैक्टीरिया इंफेक्शन हो सकता है। कोशिश करें कि रात को सोते वक्त ब्रीफ या बॉय शॉर्ट्स पहनें। वैसे सबसे अच्छा रहता है कि आप अंडरवियर के बिना सोएं।

लास्टिक वाला न हो – अगर आप लास्टिक वाला अंडर गार्मेंट रात में पहनती है तो आपका प्राइवेट पार्ट इससे प्रभावित हो सकता है। वो कसा हुआ महसूस करेगा जिससे आप सो नहीं पाएंगी। इसकी जगह आप सूती अंडी लें, इसमें खिंचने वाली लेस होती है। इससे आपकी कमर को भी राहत रहेगी और पेट पर भी ज़ोर नहीं पड़ेगा।

गंदा अंडरवियर न पहनें – अंडरवियर आपकी त्वचा से चिपका रहता है, इसलिए दिनभर की भागदौड़ में आने वाले पसीने का असर इसी पर पड़ता है। ऐसे में ये गंदा हो जाता है। कोशिश करें कि गंदा अंडरवियर न पहनें बल्कि रात में धुला साफ अंडरवियर पहनकर सोएं। इसके अलावा पुराना अंडरवियर पहनने से डर्माटाइटिस नाम के रैशिज़ हो सकते हैं।