लॉसएंजिलिस: वैज्ञानिकों ने ऐसी छोटी मेडिकल चिप विकसित की है, जिसे शरीर के अंदर के रोगों का पता लगाने और उनके उपचार के लिए स्मार्ट पिल की तरह ही निगला जा सकता है.

इस सिलिकॉन चिप का नाम ‘एटम्स’ (एड्रेसेबिल ट्रांसमीटर्स ऑपरेटेड एैज मैग्नेटिक स्पिन्स) है और शोधकर्ताओं का कहना है कि एक दिन ये हमारे शरीर में छोटे रोबोटिक वर्डन्स के तौर पर काम कर सकती है, इसके जरिए किसी मरीज की आंतों, रक्त अथवा मस्तिष्क की निगरानी की जा सकती है.

यह उपकरण मरीज के स्वास्थ्य की जानकारी देने वाले कारकों मसलन पीएच फैक्टर, तापमान, दबाव और मधुमेह सघनता को माप सकता है और इन जानकारियों को चिकित्सकों को भेज सकता है. इस उपकरण को दवाईंया छोड़ने के निर्देश भी दिए जा सकते हैं.

शोधकर्ताओं ने कहा कि शरीर के अंदर इस उपकरण के स्थान का सटीकता से पता लगाया जा सकता है जो वर्तमान में मौजूद उपकरण के साथ चुनौतीपूर्ण कार्य है.

कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की प्रोफेसर अजीता इमामी ने कहा, हमारा सपना ऐसे छोटे उपकरण बनाना है जो हमारे शरीर के अंदर घूमकर या तो समस्या का पता लगाएं या उनका समाधान करें. यह नया उपकरण एमआरआई के सिद्धांतों पर तैयार किया गया है, जिसमें किसी मरीज के शरीर में एटम का पता मैग्नेटिक फील्ड के जरिए किया जाता है.