गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में घर में घुसे बदमाशों ने एक टीवी पत्रकार को गोली मार दी. उनकी हालत नाजुक है. आईसीयू में उनका इलाज चल रहा है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक हिंदी न्यूज चैनल में काम करने वाले अनुज चौधरी की पत्नी बीएसपी से पार्षद हैं. घटना के लिए पुरानी दुश्मनी को जिम्मेदार माना जा रहा है.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने बताया कि हेलमेट पहनकर बाइक पर आए बदमाश पत्रकार के घर में घुस गए और उनपर गोलियां चला दी. उन्होंने बताया कि पुरानी दुश्मनी के कारण गोलीबारी की घटना हुई . पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक चौधरी की पत्नी बीएसपी के टिकट पर पार्षद निर्वाचित हुई थीं. घायल पत्रकार को अस्पताल ले जाया गया जहां उनका इलाज चल रहा है. डॉक्टरों के अनुसार, उन्हें पेट और हाथ में गोली लगी है.

गौरतलब है कि इससे पहले बिहार और मध्य प्रदेश में तीन पत्रकारों की हत्या कर दी गई थी. बिहार के भोजपुर में मार्च के आखिरी सप्ताह में दो पत्रकारों नवीन निश्चल और उनके साथी विजय सिंह की कार से कुचल कर हत्या कर दी गई थी. घटना के संबंध में पूर्व मुखिया के पति मोहम्मद हरसू मियां को गिरफ्तार कर लिया गया था जबकि उनके बेटे ने आत्मसमर्पण कर दिया था.

मार्च में ही मध्य प्रदेश के भिंड में एक पत्रकार को डंपर ने कुचल दिया था जिसमें उनकी मौत हो गई थी. परिवार ने आरोप लगाया है कि ये मौत नहीं बल्कि हत्या है. राज्य सरकार ने उनकी मौत की जांच के लिए सीबीआई जांच की सिफारिश की है. उन्होंने खनन माफिया और पुलिस के बीच सांठगांठ का पर्दाफाश किया था.