नई दिल्ली: भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई ) ने ई आधार के लिए एक नया क्यूआर कोड शुरू किया है. इस क्यूआर कोड में अब आधार धारक की जननांकीय जानकरी के साथ साथ साथ फोटो भी होगी. बैंक जैसे संस्थान अब आधार कार्ड का सत्यापन ऑफलाइन भी कर पाएंगे. कोड में केवल पहले आधार धारक से जुड़ी जानकारी होती थी लेकिन नए QR कोड में उसकी फोटो भी होगी.

आधार जारी करने वाले इस प्राधिकरण ने एक बयान में कहा है कि उसने ई-आधार पर मौजूदा क्यूआर कोड की जगह नया क्यूआर कोड शुरू किया है. अब तक इस कोड में केवल आधार धारक से जुड़ी जानकारी होती थी. नए कोड में उसकी फोटो भी होगी.

बता दें कि क्यूआर कोड बारकोड लेबल का ही एक रूप है, जिसमें छुपी सूचनाओं को मशीन पढ़ सकती हैं. जबकि ई-आधार, 12 अंकों की विशेष संख्या का इलेक्ट्रानिक संस्करण है, जिसे यूआईडीएआई की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है.

ऑफलाइन कर  सकेंगे सत्यापन
भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण का कहना है कि बैंक जैसे संस्थान अब आधार कार्ड का सत्यापन ऑफलाइन भी कर पाएंगे.

ऑफलाइन प्रणाली
यूआईडीएआई के सीईओ अजय भूषण ने कहा ,‘ यह आधार कार्ड के त्वरित सत्यापन का सरल ऑफलाइन प्रणाली है’.

एक और विकल्प
सूत्रों के मुताबिक, ऑफलाइन सत्यापन की इस सुविधा से एक और विकल्प उपलब्ध होगा और यह सुनिश्चित होगा कि धारक को आधार से जुड़ी किसी सेवा से वंचित नहीं किया जाए. लेकिन संबंधित व्यक्ति की प्रमाणिकता के लिए फोटो का लगे हाथ उसके चेहरे से मिलान करना होगा.

क्यूआर कोड रीडर वेबसाइट पर उपलब्ध
संबंधित एजेंसी अपने यहां लागू खास प्रमाणन योजना के जरिए भी उसका सत्यापन कर सकती है. यूआईडीएआई का ई आधार क्यूआर कोड रीडर साफ्टवेयर 27 मार्च 2018 से वेबसाइट पर उपलब्ध करवा दिया गया है. (इनपुट एजेंसी)