नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के सांसद भगवंत मान ने सोशल मीडिया पर संसद का वीडियो जारी करने के मामले में लोकसभा समिति से बिना शर्त माफी मांग ली। समिति ने मान को सोशल मीडिया पर संसद का वीडियो फुटेज डालने के मामले की जांच में दोषी पाया था। लोकसभा समिति के अध्यक्ष किरीट सोमैया ने आईएएनएस से कहा, “मान दोषी पाए गए। बीते छह महीने से मान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विवाद में खींच रहे थे। उन्होंने अब बिना शर्त माफी मांग ली है।”

सोमैया ने कहा कि समिति बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के साथ मामले की चर्चा करेगी, और सजा तय करेगी।

लोकसभा अध्यक्ष महाजन ने आप नेता भगवंत मान के संसद सुरक्षा के उल्लंघन मामले में जांच के लिए 25 जुलाई को समिति गठित की थी। मान ने 21 जुलाई को फेसबुक पर अपने घर से संसद भवन तक की यात्रा का वीडियो डाला था।

सोमैया के अलावा समिति के नौ सदस्यों में मीनाक्षी लेखी, सत्याल सिंह, आनंदराव अडसुल, बी. महताब, रत्ना डे, थोटा नरसिम्हन, के.सी. वेगुगोपाल और पी. वेणुगोपाल शामिल थे।