लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने एंटी रोमियो स्क्वाड का नाम बदल दिया है. सरकार की इस मुहिम को अब ‘नारी सुरक्षा बल’ या विमिन प्रोटेक्शन फोर्स के नाम से जाना जाएगा. लखनऊ में भारतीय जनता पार्टी के अॉफिस में राजेंद्र प्रताप ‘मोती’सिंह ने एचटी से कहा कि बहन-बेटियों का सम्मान सरकार की प्राथमिकता है. अब एंटी-रोमियो स्क्वॉड का नाम नारी सुरक्षा बल कर दिया गया है.

एचटी की रिपोर्ट के मुताबिक मंत्री ने नाम बदलने का कोई कारण नहीं बताया, लेकिन कुछ पुलिस अफसरों ने स्वीकार किया है कि एंटी रोमियो स्क्वॉड की नकारात्मक ब्रांडिंग के कारण गलत छवि बन रही थी.

मार्च में सत्ता संभालने के बाद योगी आदित्यनाथ ने एंटी रोमियो स्क्वॉड के गठन का एेलान किया था. पुलिस ने मुस्तैदी से आदेश का पालन करते हुए राज्य के 11 जिलों में पार्कों, मॉल और कॉलेजों में मनचलों को पकड़ने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी.

इसी मामले में मार्च में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने यूपी सरकार के एंटी रोमियो दल के गठन के फैसले को सही ठहराया था। इसके साथ ही हालांकि कोर्ट ने सरकार को चेताया था कि पुलिस को कानून के अंदर रहकर ही कार्य करना चाहिए. इसके बाद विपक्ष ने यूपी सरकार पर संविधान का उल्लंघन करने का आरोप लगाया था. विपक्षी दलों ने सरकार पर रोमियो और जूलियट के नाम को बदनाम करने का भी आरोप लगाया था.

मामले में स्थानीय बीजेपी नेता राजेंद्र प्रताप ‘मोती’ सिंह ने कहना है कि बहन-बेटियों का सम्मान सरकार की प्राथमिकता है। अब एंटी रोमियो स्क्वाड का नाम बदलकर नारी सुरक्षा बल कर दिया गया है.