हैदराबाद. इंसान इतना निर्दयी कैसे हो सकता है. इस घटना ने सभी को झकझोर रख दिया है. इंसान को दुनिया में सबसे बुद्धिमान माना जाता है. क्योंकि उसके अंदर लोगों के दर्द और उनकी भावनाओं को समझने की शक्ति होती है. लेकिन एक मकान मालिक ने अपने किरायेदार के साथ ऐसा किया कि इंसानियत शर्मसार हो गई.

मामला वेंकटेश्वर नगर के कुकाटपल्ली क्षेत्र का है. जहां एक महिला ने अपने 10 वर्षीय बेटे के शव के साथ बारिश के बीच सड़क पर रात बिताई क्योंकि मकान मालिक ने शव को घर के अंदर लाने की अनुमति नहीं दी थी. इसके बाद ईश्वरम्मा और उनका छोटा बेटा सुरेश के शव के साथ रातभर बैठे रहे.

बता दें कि ईश्वरम्मा के बेटे सुरेश की डेंगू से मौत हो गई थी. जब शव लेकर ईश्वरम्मा घर पहुंची तो मकान मालिक जगदीश गुप्ता ने दया नहीं दिखाई उसने कहा कि उसकी बेटी की हाल ही में शादी हुई है, ऐसे में घर में शव रखना अपशकुन होगा. इसके बाद कुछ स्थानीय लोगों ने महिला की मदद की और अंतिम संस्कार के लिए चंदा इकट्ठा किया. महबूबनगर जिले की रहने वाली महिला पिछले चार सालों से अपने दोनों बेटों के साथ किराए के मकान में रह रही थी.