नई दिल्ली। 2019 चुनाव नजदीक आते आते उपवास की राजनीति तेज होती जा रही है. सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में उपवास के बाद अब बीजेपी की तरफ से उपवास का दौर शुरू हो रहा है. संसद सत्र के दौरान हंगामे के विरोध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और सभी बीजेपी सांसद 12 अप्रैल को उपवास रखेंगे. अमित शाह 12 अप्रैल को कर्नाटक के हुबली में धरने पर बैठेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल में आयोजित बजट सत्र में विपक्ष द्वारा संसद की कार्यवाही नहीं चलने देने के विरोध में 12 अप्रैल को दिनभर का उपवास करेंगे. वहीं , भाजपा अध्यक्ष अमित शाह उसी दिन कर्नाटक के हुबली में धरना देंगे. सूत्रों ने बताया कि उपवास रखने के दौरान मोदी लोगों और अधिकारियों से मिलने और फाइलों को मंजूरी देने के अपने दैनिक नियमित आधिकारिक कामकाज में कोई बदलाव नहीं करेंगे. भाजपा सांसदों को शुक्रवार को संबोधित करते हुए मोदी ने विपक्ष और खासतौर पर कांग्रेस पर विभाजनकारी राजनीति करने का आरोप लगाया था. उन्होंने कहा कि संसद में गतिरोध के विरोध में भाजपा सांसद 12 अप्रैल को उपवास रखेंगे.

बीते 5 मार्च से शुरू से शुरू बजट सत्र में लोकसभा और राज्यसभा में किसी तरह की कार्रवाई नहीं हुई. सत्र में दोनों सदनों में एक दिन भी प्रश्नकाल और शून्यकाल नहीं चला. लोकसभा में केवल वित्त विधेयक पारित हो सका है. इसे भी निचले सदन में हंगामे के दौरान ही पारित करना पड़ा.

उपवास से पहले कांग्रेस नेताओं ने खाए छोले-भटूरे

कांग्रेस ने भाजपा के कार्यक्रम से पहले ही देश में सांप्रदायिक सद्भाव को बढ़ावा देने के लिये नौ अप्रैल को पार्टी सदस्यों के एक दिन का उपवास रखने की घोषणा कर दी थी. लेकिन राहुल गांधी और कांग्रेसियों का उपवास पूरी तरह विवादों में घिर गया जब सोशल मीडिया पर कुछ कांग्रेस नेताओं के छोटे-भटूरे खाने की तस्वीरें वायरल हो गईं. इसे लेकर बीजेपी ने राहुल और कांग्रेस को निशाने पर लिया. बीजेपी ने कहा कि राहुल उपवास का उपहास कर रहे हैं. कांग्रेस के उपवास में सिख दंगे के आरोपी भी हैं. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, कांग्रेस ने आंबेडकर को जीते जी मार दिया. राहुल गांधी मिथ्याग्रह कर रहे हैं. कांग्रेस आज खुद के जाल में फंस गई.

नरेंद्र मोदी सरकार की कथित नाकामियों, दलितों के मुद्दे और संसद ठप होने के खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेसी सोमवार को दो घंटे का उपवास पर बैठे. इस दौरान देश भर के जिला मुख्यालयों पर भी कांग्रेसियों ने प्रदर्शन किया. लेकिन राहुल का राजघाट पर बापू की प्रतिमा के सामने उपवास पर बैठने के दौरान कई विवाद हो गए. एक तस्वीर में अजय माकन, अरविंदर सिंह लवली और हारुन यूसुफ सहित दूसरे नेता उपवास से पहले छोले-भटूरे खाते दिख रहे थे.