जयपुर. विश्व हिन्दू परिषद के नेता आचार्य धर्मेन्द्र ने फिल्म पद्मावती में इतिहास के साथ की गई कथित छेड़छाड़ पर तीव्र रोष व्यक्त करते हुए कहा कि फिल्म पद्मावती के सारे प्रिंट जला दिये जाने चाहिए और निर्माता/निर्देशक संजय लीला भंसाली पर मुकदमा चलाना चाहिए. आचार्य धर्मेन्द्र ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि फिल्म पद्मावती में जिस तरह के दृश्य दिखा कर हमारी महारानी पद्मावती के चरित्र का हनन किया जा रहा है, वह निदंनीय है. उन्होंने कहा, यह देशद्रोही और हिन्दू विरोधी है.

राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने भी फिल्म पद्मावती में इतिहास के तथ्यों को कथित रूप से तोड़-मरोड़ कर दिखाये जाने पर गहरी नाराजगी जताते हुए कहा कि फिल्म पर रोक लगनी चाहिए. यह एक समुदाय विशेष का नहीं बल्कि पूरे समाज का मामला है. डूडी ने कहा कि लोगों की भावनाओं को देखते हुए सरकार को तुरंत फिल्म पद्मावती की रिलीज पर रोक लगानी चाहिए.

पद्मावती: संजय लीला भंसाली के सपोर्ट में उतरे अर्जुन कपूर

पद्मावती: संजय लीला भंसाली के सपोर्ट में उतरे अर्जुन कपूर

आचार्य धर्मेन्द्र ने कहा, फिल्म पद्मावती अभी रिलीज नहीं हुई है लेकिन फिल्म के मौजूदा ट्रेलर में महारानी को नाचते हुए दिखाया जा रहा है. हमारी महारानी (पद्मावती) तो कभी इस तरह से नहीं नाची थीं. उन्होंने कहा कि जानबूझकर इतिहास के साथ खिलवाड़ करने के लिए फिल्म निर्माता/निर्देशक संजय लीला भंसाली के खिलाफ मुकदमा चलाया जाना चाहिए.

अखिल भारतीय क्षेत्रीय महासभा के अध्यक्ष राधेश्याम सिंह तंवर ने कहा कि महासभा फिल्म पद्मावती के प्रदर्शन पर रोक लगाने की मांग को लेकर 19 नवंबर को दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडियम में प्रदर्शन करेगी. तंवर ने यहां संवाददाताओं से कहा कि देशभर में फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाने को लेकर हो रहे प्रदर्शनों के बावजूद सरकार ने अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है.