मुंबई। भारतीय जनता पार्टी आज अपना 38वां स्थापना दिवस जोर शोर से मना रही है. इस मौके पर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने मुंबई में एक बड़ी रैली को संबोधित किया. इस दौरान शाह ने विपक्षियों पर चुन-चुनकर हमला बोला. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी आज 5 संसदीय क्षेत्रों के कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे.

आज अमित शाह ने रैली में बीजेपी की उपलब्धियों को सामने रखते हुए विपक्ष को भी निशाने पर लिया. शाह ने कहा कि 38 साल पहले अटल जी ने मुंबई में ही बीजेपी की स्थापना की थी. तब उन्होंने कहा था कि अंधेरा छंटेगा, सूरज निकलेगा, कमल खिलेगा. आज पूरे देश में कमल खिला हुआ है. शाह ने कहा कि देश के लिए सबसे ज्यादा बलिदान बीजेपी ने ही दिया है.

मोदी की बाढ़ में सब एक हुए

शाह ने विपक्ष को निशाने पर लेते हुए कहा कि जब बाढ़ आती है तो जंगल में सभी पेड़ गिर जाते हैं लेकिन वट वृक्ष खड़ा रहता है. बाढ़ में सांप-कुत्ता-बिल्ली खुद को बचाने के लिए पेड़ पर चढ़ जाते हैं. आज मोदी जी की बाढ़ में सांप-नेवला, कुत्ता-बिल्ली सभी एक ही साथ चुनाव लड़ रहे हैं. आज मोदी जी के नेतृत्व में बीजेपी की 20 राज्यों में सरकार है. 2019 में हम फिर बहुमत के साथ सरकार बनाएंगे.

शाह ने कहा, हमारी पार्टी की शुरुआत 10 सदस्यों के साथ हुई थी, लेकिन आज 11 करोड़ सदस्य हैं. 2 लोकसभा सांसदों से शुरू हुई पार्टी आज अपने बहुमत पर सरकार चला रही है. शाह ने राहुल गांधी को भी निशाने पर लिया. उन्होंने कहा, राहुल हमारे चार साल का हिसाब मांगते हैं लेकिन खुद की चार पीढ़ियों का हिसाब नहीं देते हैं. आरक्षण पर शाह ने कहा, बीजेपी आरक्षण खत्म नहीं करेगी और न ही किसी को ऐसा करने देगी. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मुंबई में पार्टी के 38 वें स्थापना दिवस पर आयोजित रैली में यह बात कही.

कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे मोदी

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बीजेपी की 38वें स्थापना दिवस पर पांच लोकसभा सीटों के पार्टी कार्यकर्ताओं और पार्टी की 734 जिला इकाइयों के अध्यक्षों से मिलेंगे. मोदी अपनी एप के जरिये वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से इन कार्यकर्ताओं और अध्यक्षों से रूबरू होंगे. जिन पांच लोकसभा सीटों का चयन किया गया है उनमें नई दिल्ली, उत्तर पूर्वी दिल्ली, हिमाचल प्रदेश की हमीरपुर, उत्तर मध्य मुम्बई और बिहार की सारण सीट शामिल हैं. इन सीटों के सांसद मीनाक्षी लेखी, मनोज तिवारी, अनुराग ठाकुर, पूनम महाजन और राजीव प्रताप रूडी हैं.