नई दिल्लीः देश के कई शहरों में लोग कैश नहीं मिलने से परेशान हैं. दिल्ली से लेकर बनारस तक एटीएम से कैश नहीं मिल पा रहा है. बिहार की राजधानी पटना में पिछले तीन दिन से एटीएम में कैश नहीं मिल रहा है. लोगों का कहना है कि कैश नहीं मिलने से उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. नोटबंदी के बाद पहली बार इस तरह की समस्या देखने को मिल रही है. वहीं वित्त मंत्री अरुण जेटली का कहना है कि कुछ इलाकों में नोटों की मांग अप्रत्याशित रूप से बढ़ गई है. सरकार ने करंसी के हालात की समीक्षा की है. देश में जरूरत से ज्यादा नोट सर्कुलेशन में हैं और बैंकों में भी पर्याप्त नोट उपलब्ध हैं.

गुजरात के बड़ोदरा में भी एटीएम में कैश नहीं होने की लोग शिकायत कर रहे हैं. यहां के ज्यादातर एटीएम आउट ऑफ सर्विस चल रहे हैं. एक स्थानीय व्यक्ति ने बताया कि कई घंटों तक इंतजार करने और कई एटीएम के चक्कर लगाने के बाद उन्हें बड़ी मुश्किल से 10 हजार कैश मिल पाया.

वहीं दिल्ली के लोग भी एटीएम से कैश नहीं मिलने की शिकायत कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि अधिकांश एटीएम से कैश नहीं निकल रहा है. वहीं कई एटीएम से केवल 500 के नोट निकल रहे हैं. 2000 के नोट नहीं मिलने से लोगों को परेशानी हो रही है.

वित्त राज्य मंत्री एसपी शुक्ला का कहना है कि वर्तमान में हमारे पास 125000 करोड़ कैश है. उनका कहना है कि कुछ राज्यों के पास कम कैश है वहीं कुछ के पास ज्यादा कैश है. केंद्र सरकार ने कमिटी गठित की है. भारतीय रिजर्व बैंक ने एक राज्य से दूसरे राज्यों में पैसे के ट्रांसफर के लिए कमिटी का गठन किया है. यह काम तीन दिन में हो जाएगा.

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी लोग कैश किल्लत की शिकायत कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि पिछले 15 दिनों से हमलोग नकदी की समस्या से जूझ रहे हैं. कुछ लोगों ने बताया कि हम लोगों ने कई एटीएम के चक्कर लगाए लेकिन कैश नहीं मिला.मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को कहा कि कुछ लोगों द्वारा 2,000 के नोट दबाकर कैश की कमी पैदा करने का षड्यंत्र चल रहा है. चौहान ने हालांकि यह स्पष्ट नहीं बताया कि षड्यंत्र करने वाले ये कौन लोग हैं.

वहीं बनारस के लोगों का कहना है कि हमें नहीं पता कि समस्या कहां है. लेकिन एटीएम से पैसे नहीं निकलने से लोगों को परेशानी हो रही है. हमने सुबह से 4-5 एटीएम का दौरा किया लेकिन हमें कैश नहीं मिला. हमें बच्चों की फीस भरनी है. घर के सामान खरीदने हैं लेकिन पैसे नहीं मिल रहे.

तेलंगाना में भी लोगों को परेशानी हो रही है. हैदराबाद के लोगों का कहना है कि शहर के कई हिस्सों में एटीएम से कैश नहीं मिल रहा. हमने कल से कई एटीएम के दौरे किए लेकिन कैश नहीं मिल रहा.

योगी ने बैठक बुलाई
मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में भी कैश का संकट देखने को मिल रहा है. इसे लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक बुलाई है. ये भी बताया जा रहा है कि सीएम योगी कैश संकट को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिख सकते हैं.

तेजस्वी ने साधा निशाना
बिहार की राजधानी पटना में भी कैश की किल्लत हो गई है. सिर्फ एटीएम ही नहीं ग्राहक दावा कर रहे हैं कि बैंक की ब्रांच से भी कैश मिलने में दिक्कत हो रही है. कैश संकट पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, बिहार में विगत कई दिनों से अधिकांश ATM बिल्कुल ख़ाली हैं. लोगों के सामने गंभीर संकट है.लोगों का बैंकों में जमा अपना पैसा भी बैंक जरूरत के हिसाब से उन्हें नहीं दे रहे हैं. नोटबंदी घोटाले का असर इतना व्यापक है कि बैंको ने हाथ खड़े कर रखे है. नए नोट सर्कुलेशन से क्यों गायब हैं?