लखनऊ: मुख्यमंत्री आवास के सामने सुसाइड की कोशिश करने वाली युवती के पिता की पुलिस कस्टडी में संदिग्ध हालत में मौत के बाद राजनीति गरमा गई है. वहीं क्राइम ब्रांच ने बीजेपी विधयाक कुलदीप सिंह सेंगर के आरोपी भाई अतुल सेंगर को गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में तीन अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया है. सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए थे. उन्नाव इलाके के बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर सोमवार को लखनऊ में सीएम ऑफिस पहुंचे.


वहीं रेप पीड़िता का कहना है कि आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को अब तक गिरफ्तार नहीं किया गया है. मुझे यह भी नहीं पता कि उसके भाई को गिरफ्तार किया गया है कि नहीं. मेरी मांग है कि उन्हें मौत होने तक फांसी के फंदे पर लटकाया जाए. उन्होंने मेरी जिंदगी को नर्क बना दिया है. मुझे न्याय चाहिए. उन्होंने मेरे पिता की हत्या की है.

सीएम आवास के बाहर उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर कोई आरोप नहीं हैं. मैं किसी भी जांच के लिए तैयार हूं. जो भी दोषी है उसके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए. एक सवाल पर उन्होंने कहा कि नाम किसी का आने पर कोई इस्तीफा दे देता है क्या. आरोप किसी पर भी लग सकता है. आप पर लगता सकता है.’ मामले में दो पुलिस अधिकारियों व चार कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है. साथ ही बीजेपी विधायक पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता के पिता को 3 अप्रैल को केस वापस लेने के लिए पीटने वाले चार लोगों को अरेस्ट किया गया है.

वहीं, रेप पीड़िता की बहन ने भी बयान दिया है. उन्होंने कहा कि ‘मेरे पिता की मौत हो चुकी है. अब कहा जा रहा है कि एक्शन लिया जाएगा. हम सिर्फ एफआईआर और बीजेपी विधायक की गिरफ्तारी चाहते हैं. हमें न्याय चाहिए.’

डीआईजी (लॉ एंड ऑर्डर) ने मौत के मामले में मैजिस्टीरियल जांच के आदेश दिए हैं. डीआईजी ने कहा कि अगर पुलिस की ओर से कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. उन्नाव एसपी पुष्पांजलि देवी ने बताया कि मौत के मामले में कार्रवाई की गई है. दो पुलिस अधिकारी, चार कांस्टेबल को सस्पेंड किया गया है. युवती के पिता को पीटने वाले चार अरेस्ट भी हुए हैं. घटना की जांच की जा रही है.

युवती के पिता की संदिग्ध हालत में हुई मौत

एडीजी लखनऊ, राजीव कृष्ण ने घटना को संज्ञान में लेकर जांच की बात कही थी. उनका कहना था कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर आरोप है. आरोप है कि 3 अप्रैल को विधायक पक्ष ने शिकायत वापस लेने का दबाव बनाते हुए युवती के पिता से मारपीट की थी. इसके बाद उन्नाव पुलिस ने युवती के पिता पर ही कार्रवाई कर पकड़ लिया था. आज युवती के पिता की उन्नाव में पुलिस कस्टडी में संदिग्ध हालत में मौत हो गई.

अखिलेश ने ट्वीट कर कसा तंज
पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि ‘प्रदेश में कहीं कोचिंग की छात्रा की सरेआम गोली मारकर हत्या हो रही है, तो कहीं भाजपा विधायक पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला सरकार से निराश होकर मुख्यमंत्री आवास पर आत्मदाह कर रही है.’ अखिलेश ने तंज कसा कि ‘क्या यही है ‘एनकाउंटरवाली’ सरकार का ख़ौफ़ कि अपराधियों की जगह आज नारी आतंकित हो रही है.’