भारती एयरटेल ने सबसे तेज नेटवर्क संबंधी अपने विज्ञापन अभियान के बारे में रिलांयस जियो के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि जियो की शिकायत उसके ‘ब्रांड को धूमिल’ व ग्राहकों को ‘भ्रमित’ करने का प्रयास है। इसके साथ ही मोबाइल इंटरनेट स्पीड परीक्षण फर्म ओकला ने अपने निष्कर्षों का बचाव किया है। फर्म के निष्कर्षों में भारती एयरटेल के ब्राडबैंड नेटवर्क को सबसे तेज बताया गया था। रिलायंस जियो ने इस दावे को चुनौती दी थी।

स्पीडटेस्ट (ओकला के ऐप) के मुख्य परिचालन अधिकारी जेमी स्टीवन ने एक बयान में कहा, ओकला एयरटेल को भारत का सबसे तेज मोबाइल नेटवर्क बताने संबंधी अपने दावे का पूरी तरह समर्थन करता है। ओकला ने तीसरी व चौथी तिमाही 2016 के आंकड़ों के आधार पर एयरटेल को भारत में सबसे तेज मोबाइल नेटवर्क करार दिया। रिलायंस जियो ने इसे चुनौती दी। यह भी पढ़ें: जियो ने एएससीआई से कहा, एयरटेल का सबसे तेज नेटवर्क का दावा गुमराह करने वाला

रिलायंस जियो ने भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (एएससीआई) से शिकायत कर भारती एयरटेल के ‘आधिकारिक तौर पर सबसे तेज नेटवर्क’ के दावे को गुमराह करने वाला बताया है। जियो ने अपनी शिकायत में कहा है कि एयरटेल का खुद को सबसे तेज नेटवर्क बताने का दावा गलत, गुमराह करने वाला है। यह दावा गलत मंशा से ओकला, एलएलसी के साथ साठगांठ में किया गया है।