नई दिल्ली। बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और शहरी विकास मंत्री वेंकेैया नायडू को एनडीए के तरफ से उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने का फैसला लिया गया है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने एनडीए के घटक दलों को इसकी जानकारी दे दी है. शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि वेंकैया जी के पास काफी अनुभव है. नायडू दो बार बीजेपी अध्यक्ष रह चुके हैं और चार बार से राज्यसभा सांसद हैं. एनडीए के सभी घटक दलों ने इस फैसले का स्वागत किया है.

शाह ने कहा कि नायडू मंगलवार को सुबह 11 बजे उपराष्ट्रपति पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल करेंगे. बीजेपी की तरफ से उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के ऐलान के बाद पीएम मोदी ने कहा कि वेंकैया नायडू को मैं वर्षों से जानता हूं. मैंने हमेशा नायडू की मेहनत और दृढ़ता की प्रशंसा की है. उपराष्ट्रपति पद के लिए नायडू उपयुक्त उम्मीदवार हैं. उन्होंने कहा कि नायडू के पास कई वर्षों का संसदीय अनुभव है जो राज्यसभा के सभापति के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने में उनकी मदद करेगा. उपराष्ट्रपति राज्यसभा के सभापति भी होते हैं.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि एक किसान का बेटा अगला उपराष्ट्रपति बनेगा. वेंकैया जी एक समर्पित व्यक्ति हैं. उनके नाम का ऐलान काफी खुशी का बात है. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि अनुभवी और वरिष्ठ वेंकैया नायडू हर प्रकार से उपराष्ट्रपति की भूमिका के लिए उपयुक्त हैं.

उपराष्ट्रपति पद के लिए नायडू का मुकाबला विपक्ष के उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी से होगा. बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में पीएम मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह सहित संसदीय बोर्ड के सदस्य नितिन गडकरी, अनंत कुमार, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, रामलाल वेंकैया नायडू, शिवराज चौहान, जेपी नड्डा जैसे नेता शामिल हुए.

गोपालकृष्ण गांधी विपक्ष के उम्मीदवार
कांग्रेस सहित 18 विपक्षी दलों ने पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी को उपराष्ट्रपति पद के लिए अपना प्रत्याशी घोषित किया है. जेडीयू ने भी इस नाम को अपना समर्थन दिया है. गांधी मंगलवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे. नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद गांधी औपचारिक तौर पर अपना प्रचार अभियान शुरू करेंगे.

5 अगस्त को उपराष्ट्रपति चुनाव
उपराष्ट्रपति का चुनाव 5 अगस्त को होना है.  उसी शाम वोटों की गिनती होगी. उपराष्ट्रपति पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तारीख 18 जुलाई है. उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है.