नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के रॉबर्ट्सगंज से लोकसभा सांसद छोटेलाल ने सीएम योगी आदित्यनाथ की शिकायत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की है. 45 साल के छोटेलाल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पार्टी की राज्य इकाई के नेताओं की शिकायत की है और उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने उन्हें डांटा है. रॉबर्ट्सगंज से लोकसभा सांसद छोटेलाल ने अपने भाई को ब्लॉक प्रमुख के पद से हटवाए जाने पर नाराजगी जाहिर की और दावा किया है कि एक भाजपा नेता की सांठगांठ के कारण ऐसा हुआ है.

सांसद का आरोप है कि उनके भाई की जगह पर जमीन माफिया की पत्नी को ब्लॉक प्रमुख के पद पर बैठा दिया. उन्होंने लिखा है कि हमारे भाई का दोष सिर्फ इतना है कि उसने दलित होते हुए भी सामान्य सीट पर जीत दर्ज की थी. यह पहला मौका नहीं है जब सीएम योगी की शिकायत लेकर कोई नेता पीएम मोदी के पास पहु्ंचा हो. इससे पहले सांसद सावित्री बाई फुले ने भी नाराजगी जाहिर की थी.

छोटेलाल से जब इस पत्र के संबंध में संपर्क साधने का प्रयास किया गया तो उनका मोबाइल फोन बंद मिला और उनसे संपर्क नहीं हो पाया. मोदी को लिखे इस पत्र में छोटेलाल ने कहा कि उनका गुनाह यह है कि उन्होंने एक अनारक्षित सीट पर अपने भाई के निर्वाचित होने में मदद की थी.

सांसद ने कहा कि अपना सम्मान बचाने के लिए उन्होंने भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडे और संगठन महासचिव सुनील बंसल और अन्य से भी मुलाकात की. पत्र के मुताबिक छोटेलाल दो बार मुख्यमंत्री से मिले लेकिन उन्हें डांटा गया और उन्हें वहां से जाना पड़ा.

एक प्रतिद्वंद्वी का नाम लेते हुए दलित सांसद ने आरोप लगाया कि उन्हें उनकी जाति के नाम पर धमकी दी गई और दुर्व्यवहार किया गया. उन्होंने प्रधानमंत्री से उनका सम्मान फिर से दिलाए जाने का आग्रह किया है.