नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने संगठन में दो बड़े बदलाव किए। उन्होंने मनोज तिवारी को दिल्ली का प्रदेश अध्यक्ष और नित्यानंद राय को बिहार का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। पार्टी ने आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा कि मनोज तिवारी दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर सतीश उपाध्याय की जगह लेंगे। उनकी नियुक्ति तत्काल प्रभाव से होगी। मनोज तिवारी उत्तर पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद हैं। उधर बिहार के नए अध्यक्ष नित्यानंद राय बिहार की उजियारपुर सीट से लोकसभा सदस्य हैं। इससे पहले बिहार इकाई के अध्यक्ष मंगल पांडे थे। इस बड़े बदलाव की ये हैं प्रमुख वजहें… [यह भी पढ़ेंः मनोज तिवारी दिल्ली में नए बीजेपी अध्यक्ष]

  • बिहार में विधानसभा चुनाव हारने के बाद से ही यह कयास लगने लगा था कि पार्टी मंगल पांडेय की जगह किसी नए चेहरे को पार्टी का दायित्व सौंपेगी। अब कमान युवा सांसद नित्यानंद राय को सौंपी गई है।
  • नित्यानंद यादव जाति से आते हैं। भाजपा की एक कोशिश बिहार के यादव वोट पर सेंध लगाने की भी होगी। बिहार चुनाव में अभी 4 साल का वक्त है। नित्यानंद को रणनीति लागू करने का भरपूर समय मिल जाएगा।
  • उजियारपुर से सांसद नित्यानंद राय ने राजनीति की शुरुआत छात्र जीवन से ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के साथ की थी। बिहार के वैशाली जिले के कामपुरा गांव निवासी नित्यानंद लंबे संघर्ष के बाद वर्ष 2000 में भाजपा के टिकट पर हाजीपुर से पहली बार विधायक चुने गए। इमानदार छवि के माने जाने वाले नित्यानंद ने लगातार चार बार हाजीपुर विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व किया है।
  • मनोज तिवारी दिल्ली में आकर बसे पूर्वांचल और बिहार के लोगों के बीच काफी पॉपुलर हैं। उनके प्रदेश अध्यक्ष बनने से इस निर्णायक वोट बैंक को लुभाया जा सकेगा।
  • कहा जा रहा है कि मनोज तिवारी को दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष बनाने पर सहमति एमसीडी के वार्डों के उपचुनाव से पहले ही बन गई थी। लेकिन उपचुनावों की वजह से प्रदेश अध्यक्ष बदलने के फैसले को टाल दिया गया था।