फेसबुक डेटा चोरी मामले का भंडाफोड़ करने वाले कैम्ब्रिज एनालिटिका के एक पूर्व कर्मचारी ने कहा है कि कंपनी ने भारत में व्यापक रूप से काम किया था. उन्हें लगता है कि कांग्रेस पार्टी ने कंपनी की सेवाएं ली थीं. फर्जी खबरों से जुड़े मामलों की जांच कर रही ब्रिटेन की एक संसदीय समिति के समक्ष अपनी गवाही में उन्होंने यह बात कही. बता दें कि फेसबुक डेटा चोरी के तार के ब्रिटेन की इस विवादित कंपनी से जुड़े होने की खबरें मिली हैं. इन विषयों को लेकर गहराते विवाद के बीच क्रिस्टोफर विली ने हाउस ऑफ कामंस की डिजिटल, सांस्कृतिक, मीडिया और खेल समिति के समक्ष अपनी गवाही दी।

संसदीय समिति के सदस्य और लेबर पार्टी के सांसद पॉल फेर्रेली ने विली से पूछताछ के दौरान सवाल किया, ‘जब आप फेसबुक के सबसे बड़े बाजार को देखते हैं तो उपयोगकर्ताओं की संख्या के लिहाज से भारत शीर्ष पर आता है. स्पष्ट तौर पर वह एक ऐसा देश है जहां राजनीतिक कलह है और अस्थिर किए जाने की गुंजाइश है.’ विली ने जवाब दिया, ‘उन्होंने( कैम्ब्रिज एनालिटिका) भारत में व्यापक रूप से काम किया. भारत में उनका कार्यालय है.’

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि कांग्रेस उनकी क्लाइंट थी लेकिन मुझे मालूम है कि उन्होंने सभी तरह की परियोजनाएं की थी. मुझे किसी राष्ट्रीय परियोजना के बारे में नहीं मालूम है, लेकिन मैं क्षेत्रीय योजना के बारे में जानता हूं. भारत इतना बड़ा है कि एक राज्य ब्रिटेन जितना बड़ा हो सकता है. वहां उनके कार्यालय और कर्मचारी हैं.’

बीजेपी का आरोप
कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कैम्ब्रिज एनेलिटिका के बारे में भंडाफोड़ करने वाले व्यक्ति की ब्रिटेन के हाउस आफ कामंस में दी गई गवाही का हवाला देते हुए दावा किया कि इस विवादास्पद डाटा फर्म ने कांग्रेस के लिए काम किया था. उन्होंने मांग की कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए.

कांग्रेस ने ये कहा
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘कानून मंत्री आए दिन एक मनगढ़त झूठ रचकर भाजपा और सरकार की ओर से देश का ध्यान बंटाने का काम कर रहे हैं. अविनाश राय नामक व्यक्ति ने दो दिन पहले यह स्वीकार किया गया कि 2014 में कांग्रेस नीत सरकार को गिराने के लिए कैम्ब्रिज एनेलिटिका का इस्तेमाल किया गया.’ उन्होंने कहा कि गुजरात के एक एनआरआई ने कैम्ब्रिज एनेलिटिका (सीए) को करोड़ों रुपये दिये ताकि वह कांग्रेस के खिलाफ काम करे. इसका खुलासा सीए की भारत में साझेदार कंपनी ओबीआई के एक कर्मचारी ने अविनाश राय ने किया है. इस खुलासे से भाजपा की कलई खुल गयी है कि कांग्रेस के खिलाफ सीए से षड्यंत्र कौन करवा रहा था?