पटना: केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज कहा कि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों और महिलाओं को सशक्त बनाने के सरकार के प्रयासों के तहत बिहार में समान सेवा केंद्रों (सीएससी) में 100 बीपीओ खोले जाएंगे. इलेक्ट्रॉनिक्स, सूचना प्रौद्योगिकी और कानून एवं न्याय मंत्री प्रसाद ने कहा, ‘‘ हमने बीपीओ केंद्र खोलने के लिए कार्यक्रम शुरू किए हैं. हम गांवों में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए 5 से 10 सीटों के छोटे बीपीओ केंद्र खोलेंगे. ’’

ये भी पढ़ें: बाबा साहब ने स्वयं अपने दम पर उच्च शिक्षा हासिल की, हम समय से स्कॉलरशिप दे रहे : सीएम योगी

प्रसाद यहां डॉ. बी. आर. अंबेडकर की जयंती पर इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा ‘ द विजन एंड मिशन ऑफ डॉ. बी. आर अंबेडकर ’ विषय पर आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि पटना और मुजफ्फरपुर में बीपीओ केंद्र खोले जा चुके हैं और समस्तीपुर, देवरिया तथा गाजीपुर आदि छोटे शहरों में भी जल्द खोले जाएंगे.

ये भी पढ़ें: आरक्षण कभी खत्म नहीं होगा, किसी में इतनी हिम्मत नहीं: नीतीश कुमार

बता दें कि सरकार का ये फैसला ऐसे समय में आया है जब एससी-एससटी समुदाय के लोगों में रोष है. उललेखनीय है कि 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान हुई हिंसा के बाद आरक्षण की व्यवसथा पर दोबारा बहस की मांग की रही है. ऐसे में सरकार का यह फैसला एससी-एसटी समुदाय को राहत पहुंचा सकता है.

-इनपुट पीटीआई