बेंगलुरू। कर्नाटक के चुनाव नजदीक आने के साथ ही सियासी वार पलटवार का खेल शुरू हो गया है. बीजेपी ने गुजरात से विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवानी के खिलाफ केस दर्ज कराया है. मेवानी पर एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पीएम मोदी की सभा में हंगामा करने के लिए लोगों को उकसाने का आरोप है.

बीजेपी के चित्रदुर्ग जिले के अध्यक्ष ने मेवानी के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. मेवानी ने अपने भाषण में लोगों से अपील की थी कि वो कर्नाटक में पीएम मोदी के कैंपेन प्रोग्राम में गड़बड़ी पैदा करें और कुर्सी उछालें. 

इस वीडियो में आप जिग्नेश का वो भाषण देख सकते हैं. जिग्नेश कह रहे हैं- कर्नाटक की जनता का सबसे बड़ा रोल ये होना चाहिए कि वो 15 अप्रैल को होने वाले पीएम के कैंपेन प्रोग्राम में प्रवेश करें और हवा में कुर्सी उछालकर बाधा डालें. फिर उनसे पूछें की 2 करोड़ जॉब्स का क्या हुआ. अगर वह जवाब नहीं दे पाएं तो उन्हें हिमालय जानें को कहें.

कर्नाटक का घमासान

बता दें कि कर्नाटक में 12 मई को चुनाव हैं और 15 मई को काउंटिंग होनी है. सभी पार्टियां चुनाव प्रचार में जुटी हुई हैं. मुख्य मुकाबला कांग्रेस-बीजेपी के बीच है. कांग्रेस की तरफ से सिद्धारमैया सीएम उम्मीदवार हैं तो बीजेपी ने येदियुरप्पा पर दांव खेला है. कांग्रेस के सामने इस बार सत्ता बचाने की चुनौती है. बीजेपी एंटी इनकंबेंसी का फायदा उठाकर दोबारा सत्ता में वापसी करना चाहती है. सिद्धारमैया ने कर्नाटक का अलग झंडा और लिंगायत को अलग धर्म का दर्जा देने का दांव खेलकर बीजेपी को मुश्किल में डाल दिया हैं.