Live Updates

  • 7:18 PM IST

    जेल में सलमान बने कैदी नंबर 106 , अलग बैरक मिलेगा

  • 4:51 PM IST

    एक्टर समीर सोनी ने कहा कि वे अपने लिए तो खुश हैं लेकिन सलमान की सजा को लेकर दुखी हैं. इस मामले में उचित तरीके से न्याय नहीं हुआ है.

  • 4:50 PM IST

  • 3:41 PM IST

    जेल में सलमान को नहीं मिलेगी कोई विशेष सुविधा. एसी या कूलर नहींं मिलेगा. जमीन पर सोना पड़ेगा.

  • 3:37 PM IST

  • 3:37 PM IST

    सलमान की जमानत याचिका पर जोधपुर सेशन कोर्ट में शुक्रवार को होगी सुनवाई.

  • 3:35 PM IST

    जोधपुर जेल में पहुंचे सलमान खान.

  • 3:28 PM IST

  • 3:28 PM IST

    कोर्ट के फैसले पर विश्नोई समाज ने व्यक्त की खुशी.

नई दिल्लीः अभिनेता सलमान खान के लिए आज का दिन बेहद अहम है. 20 साल पहले काला हिरण शिकार मामले में सलमान और बाकी आरोपियों की किस्मत का फैसला आज होगा. इस मामले में सलमान के अलावा सैफ अली खान, नीलम, सोनाली बेंद्रे और तब्बू भी आरोपी हैं. बॉलीवुड जगत सहित पूरे देश की निगाहें इस फैसले पर लगी हैं.

राजस्थान के जोधपुर की अदालत काला हिरण के शिकार के दो दशक पुराने मामले में अभिनेता सलमान खान और अन्य लोगों के खिलाफ फैसला सुनाएगी. मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देव कुमार खत्री ने 1998 में हुई इस घटना के संबंध में 28 मार्च को मुकदमे की सुनवाई पूरी करते हुए फैसला बाद में सुनाने की घोषणा की थी. फैसला सुनाए जाने के समय सभी आरोपी कलाकार सलमान खान, सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेन्द्रे और नीलम अदालत में मौजूद रहेंगे.

मुंबई हवाई अड्डे से चार्टर्ड विमान से 52 वर्षीय सलमान खान यहां बुधवार को पहुंच चुके थे. इससे पहले वह ‘रेस 3’ की शूटिंग के लिए अबु धाबी में थे. सोनाली बेंद्र, तब्बू और नीलम भी मुंबई से जोधपुर पहुंच चुकी हैं. सलमान पर आरोप है कि उन्होंने जोधपुर के निकट कणकणी गांव के भागोडा की ढाणी में दो काले हिरणों का शिकार किया था. यह घटना ‘हम साथ साथ है’फिल्म की शूटिंग के दौरान दो अक्तूबर, 1998 की है.

क्या है हिरण शिकार मामला
सलमान खान पर हिरण शिकार मामले में कुल चार केस दर्ज हुए थे. सलमान समेत अन्य आरोपियों पर मथानिया और भवाद में दो चिंकारा के शिकार के दो अलग- अलग मामले कांकाणी में हिरण शिकार मामला और लाइसेंस समाप्त हो जाने के बाद भी रायफल रखने (आर्म्स ऐक्ट का आरोप है) हिरण शिकार का तीसरा केस कंकाणी गांव में 12 अक्टूबर 1998 की रात दो काले हिरणों के शिकार का है.

ये मामले आर्म्स ऐक्ट में अतिरिक्त अभियोग लगने की वजह से जुलाई 2012 तक लंबित रहे. दो चिंकारा शिकार के मामले में सलमान खान को पहली बार 17 फरवरी 2006 को जोधपुर की निचली अदालत से एक साल की सजा हुई थी. आरोप है कि जोधपुर के पास भवाद गांव में 26-27 सितंबर 1998 की रात में शिकार किया गया था.

सलमान को काले हिरण के शि‍कार मामले में 10 अप्रैल 2006 को पांच साल की सजा हुई. शिकार का यह मामला जोधपुर के मथानिया के पास घोड़ा फार्म में 28.29 सितंबर 1998 की रात का है, लेकिन बाद में जोधपुर हाई कोर्ट से उन्हें जमानत मिल गई. 25 जुलाई 2016 को राजस्थान हाई कोर्ट ने सलमान को बरी कर दिया. इस मामले में कुल 12 आरोपी थे.