जोधपुर: जोधपुर की एक अदालत ने करीब दो दशक पुराने काला हिरण शिकार मामले में फिल्म अभिनेता सलमान खान को दोषी करार दिया है. उन्हें 5 साल की सजा सुनाई गई है. साथ ही 10 हजार रुपए का जुर्मना भी लगाया गया है. सलमान के लिए सजा का एलान होते ही दोनों बहनें अलवीरा और अर्पिता रो पड़ीं. पुलिस ने सलमान को उनकी बहनों से अलग किया. कोर्ट परिसर के बाहर कुछ लोगों ने सलमान खान हाय-हाय के नारे लगाए.

इससे पहले अभियोजन पक्ष के वकील ने सलमान को आदतन अपराधी बताते हुए अदालत से उन्हें अधिकतम सजा देने की गुहार लगाई थी. वहीं बचाव पक्ष के वकील ने अभिनेता सलमान को एक अच्छा इंसान बताते हुए कम से कम सजा की मांग की थी.

सलमान खान को वन्यजीव संरक्षण कानून की धारा 51 के तहत आरोपी बनाया गया था. अदालत ने इसी कानून के तहत उनको दोषी करार दिया है. मामले में अन्य आरोपी सैफ अली खान, नीलम और तब्बू को कोर्ट ने बरी कर दिया. अन्य सह आरोपी वन्यजीव संरक्षण कानून की धारा 51 और भारतीय दंड संहिता की धारा 149 ( गैरकानूनी जमावड़ा) के तहत आरोपी थे.

काले हिरण के शिकार से संबंधित 1998 के मामले में जोधपुर की अदालत ने फैसला सुनाया है. तकरीबन दो दशक पुराने मामले में अभिनेता सलमान खान, सैफ अली खान, अभिनेत्री सोनाली बेन्द्रे, नीलम और तब्बू आरोपी थे. फैसले से पहले अदालत के भीतर और आसपास सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे.

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देव कुमार खत्री ने 1998 में हुई इस घटना के संबंध में 28 मार्च को मुकदमे की सुनवाई पूरी करते हुए फैसला सुरक्षित रख लिया था. उन्होंने कहा था कि मुकदमे का फैसला पांच अप्रैल को सुनाया जाएगा. फैसला सुनाए जाने के समय सलमान खान, सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेन्द्रे और नीलम अदालत में मौजूद रहे. सलमान पर आरोप था कि उन्होंने जोधपुर के पास कणकणी गांव के भागोडा की ढाणी में दो काले हिरणों का शिकार किया था. यह घटना हम साथ साथ है फिल्म की शूटिंग के दौरान दो अक्तूबर 1998 की है.

यह भी पढ़ेंः LIVE: काला हिरण शिकार मामलाः सलमान खान को 5 साल की सजा, हिरासत में लिए गए

सलमान खान वन्यजीव संरक्षण कानून की धारा 51 और अन्य कलाकार वन्यजीव संरक्षण कानून की धारा 51 और भारतीय दंड संहिता की धारा 149 ( गैरकानूनी जमावड़ा) के तहत आरोपों का सामना कर रहे थे. सरकारी वकील भवानी सिंह भाटी ने कहा कि उस रात सभी कलाकार जिप्सी कार में थे, सलमान खान वाहन चला रहे थे. हिरणों का झुंड देखने पर उन्होंने गोली चलाई और उनमें से दो हिरण मार दिए थे. उन्होंने कहा कि जब लोगों ने उन्हें देखा और उनका पीछा किया तो ये कलाकर मृत हिरणों को मौके पर छोड़कर भाग खड़े हुए. उन्होंने कहा कि उन लोगों के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं. उनका कहना था कि सभी कलाकारों के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य हैं.

यह भी पढ़ेंः पत्रकारों के सवालों से झल्लाए सैफ ने ड्राइवर से कहा- शीशा ऊपर करो और रिवर्स कर लो…वरना पड़ेगी एक

इन आरोपों से इनकार करते हुए सलमान के वकील एच. एम. सारस्वत ने कहा कि अभियोजन पक्ष की कहानी में कई खामियां हैं. उन्होंने यह भी दलील दी कि अभियोजन यह साबित करने में भी विफल रहा है कि काले हिरण बंदूक की गोली से ही मारे गये थे और ऐसी स्थिति में इस तरह की जांच पर भरोसा नहीं किया जा सकता.