कोलकाता. कलकत्ता हाईकोर्ट ने गुरुवार को पश्चिम बंगाल पंचायत चुनावों पर रोक लगा दी है. कोर्ट ने 16 अप्रैल तक सभी चुनावी प्रक्रिया जैसे नामांकन पत्रों की वापसी और उनकी स्क्रूटनी पर रोक लगा दी है. कोर्ट ने चुनाव आयोग को तथ्यात्मक रिपोर्ट भी सौंपने के निर्देश दिए हैं. बता दें कि राज्य में पंचायत चुनाव तीन चरणों में एक, तीन और पांच मई को होने हैं.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनावों में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी कोलकाता ईकाई से नामांकन पत्र दाखिल करने सहित सभी मुद्दों के लिए कोलकाता हाईकोर्ट से संपर्क करने को कहा था.

न्‍यायमूर्ति आरके अग्रवाल व न्यायमूर्ति अभय मनोहर सप्रे की पीठ ने पश्चिम बंगाल बीजेपी इकाई की याचिका पर सुनवाई की थी. इसमें राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि को एक दिन बढ़ाकर 10 अप्रैल करने के आदेश को वापस लेने पर सवाल उठाए गए थे.