नई दिल्ली. सीबीएसई पेपर लीक मामले में शनिवार को भी छात्रों का प्रदर्शन जारी है. बड़ी संख्या में छात्रों ने सीबीएसई हेडक्वार्टर के बाहर प्रदर्शन किया. वहीं, कुछ नाराज छात्रों ने प्रीत विहार में जाम लगा दिया. बताया जा रहा है कि छात्र सेंट्रल पार्क के पास इकट्ठा होंगे और वहां से मार्च निकालेंगे. ये मार्च इंडिया गेट तक निकलेगा. कई छात्र संगठनों ने छात्रों के इस प्रदर्शन को समर्थन दिया है.

बता दें कि पुलिस को इस मामले में अब तक कोई सुराग नहीं मिला है. पुलिस 60 लोगों से पूछताछ कर रही है. इनमें 10 व्हाट्सएप ग्रुपों के एडमिन भी शामिल हैं. इस तरह का कोई संकेत नहीं है कि इन पेपरों को शेयर करने के लिए पैसे लिए गए हैं.

पुलिस ने गूगल से भी उस ई- मेल पते के बारे में जानकारी मांगी है जहां से सीबीएसई की प्रमुख को ई- मेल भेजकर सूचित किया गया था कि 10वीं कक्षा का गणित का पर्चा लीक हो गया है. इस बीच 10वीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र का पेपर लीक होने के मामले में झारखंड के चतरा जिले के छह छात्रों को हिरासत में लिया गया है. गणित के पेपर से जुड़ी शिकायत पर बोर्ड ने कहा कि परीक्षा से एक दिन पहले लीक के बारे में सीबीएसई अध्यक्ष की आधिकारिक ईमेल आईडी पर एक ई-मेल आया था.

 

उन्होंने बताया कि ईमेल भेजने वाले ने कहा था कि गणित का पेपर व्हाट्सएप पर लीक हो गया है और इसे रद्द किया जाना चाहिए. दिल्ली पुलिस ने दो मामले दर्ज किए हैं. अर्थशास्त्र का पेपर लीक होने के संबंध में पहला मामला 27 मार्च को और गणित का पेपर लीक होने का मामला 28 मार्च को दर्ज किया गया.