नई दिल्ली: सीबीएसई के 12वीं के इकोनॉमिक्स और 10वीं के मैथ्स के पेपर लीक होने की घटना पर पीएम मोदी ने सख्त नाराजगी जताई है. पीएम मोदी ने इस मामले में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से बात कर नाराजगी जताई है. खबर के मुताबिक पीएम मोदी ने जावड़ेकर को इस मामले में दोषियों पर सख्त एक्शन लेने को कहा है. वहीं दिल्ली पुलिस ने भी इस मामले में केस दर्ज किया है, दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच इस मामले की जांच करेगी.

12वीं के इकोनॉमिक्स और 10वीं के मैथ्स का पेपर लीक होने पर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है, ”पेपर का कुछ हिस्सा व्हॉट्सऐप पर लीक हो गया था और हमने इसके खिलाफ पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवा दी है. जांच जारी है और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. हमने तय किया है कि अब पेपर बांटते समय भी पहले से ज्यादा सावधानी बरती जाएगी ताकि इस तरह की समस्या फिर न हो” जावड़ेकर ने कहा है कि छात्रों को घबराने की जरुरत नहीं है और किसी भी छात्र के साथ अन्याय नहीं होगा.

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कहा है कि, ”परीक्षा तो पूरे देश में कराई गई थी लेकिन पेपर लीक होने की घटना दिल्ली के कुछ चुनिंदा स्कूलों से ही सामने आई है. कैबिनेट ने तय किया है कि अगले साल से नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा परीक्षा करवाई जाएगी ताकि पेपर लीक जैसी घटना दोबारा न हो.”

जावड़ेकर ने कहा कि पेपर लीक के पीछे किसी एक गैंग का हाथ हो सकता है और सीबीएसई ने इस मामले को गंभीरता से लिया है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम व्हॉट्सएप को ट्रैक कर ये जानने की कोशिश कर रही है कि पेपर कहां से लीक किया गया है. जावड़ेकर ने यह भी बताया कि सोमवार को जो अगला पेपर होगा उसमें नई सुरक्षा तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा ताकि फिर से पेपर लीक जैसी घटना न हो.

फिर से पेपर करवाने पर जावड़ेकर ने कहा कि मैं समझ सकता हूं कि इस फैसले से बच्चों और उनके अभिभावकों को तकलीफ होगी, लेकिन बच्चों को परेशान होने की जरुरत नहीं है और प्रधानमंत्री मोदी ने भी कहा है कि बच्चे तनावमुक्त होकर परीक्षा दें. छात्रों को आश्ववस्त करते हुए जावड़ेकर ने कहा कि हम आगे से परीक्षा व्यवस्था को पुख्ता करेंगे और मैं छात्रों को विश्वास दिलाता हूं कि जिन्होंने ये लीक किया होगा उसको हम जल्द पकड़ेंगे और हम पूरे मामले की आंतरिक जांच भी कर रहे हैं.

इस घटना के बाद सीबीएसई ने 12वीं के इकोनॉमिक्‍स और 10वीं के मैथ्स के पेपर फिर से कराने का फैसला किया है. अभी सीबीएसई ने इस बात की जानकारी नहीं दी है कि ये पेपर किस दिन कराए जाएंगे. सीबीएसई का कहना है कि एक हफ्ते में रि-एग्जाम से जुड़ी अन्य जानकारियां वेबसाइट पर जारी की जाएंगी.

हालांकि पहले सीबीएसई ने 12वीं बोर्ड के इकोनॉमिक्‍स का पेपर लीक होने की बात खारिज कर दी थी. सीबीएसई ने एक बयान में कहा था कि कोई पेपर लीक नहीं हुआ है. सोशल मीडिया पर इस बारे में अफवाह फैलाई गई है. बोर्ड ने पेपर लीक के आरोप सामने आने के बाद एक उच्च स्तरीय बैठक की थी.