मैसुरू: कर्नाटक में 12 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों के लिए कांग्रेस-बीजेपी दोनों पार्टियों ने कमर कस ली है. पिछले दिनों कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के कर्नाटक दौरे के बाद अब बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक के दौरे पर हैं और राज्य की कांग्रेस सरकार पर लगातार हमला बोल रहे हैं.

शनिवार को भी बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस और भ्रष्टाचार के बीच पानी और मछली जैसा संबंध बताते हुए कहा कि कर्नाटक के लोगों ने 12 मई को होने वाले विधानसभा चुनावों में सिद्धरमैया सरकार को हटाने का मन बना लिया है. शाह ने कहा कि कर्नाटक सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त एक एटीएम की तरह है. उन्होंने कहा कि लोग सिद्धरमैया सरकार से कई मुद्दों पर हताश हैं, विशेषकर भ्रष्टाचार को लेकर.

शाह ने पत्रकारों से कहा, ‘‘कर्नाटक के लोगों ने सिद्धरमैया सरकार को बाहर करने का मन बना लिया है, वे उनसे कई मोर्चों पर निराश हैं, जिसमें भ्रष्टाचार एक प्रमुख मुद्दा है.’’ उन्होंने कह, ‘‘ भ्रष्टाचार और कांग्रेस पार्टी के बीच संबंध पानी और मछली के समान है.’’ चन्नापट्टना में एक सभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि भ्रष्ट सिद्धरमैया सरकार को बाहर किए बिना कर्नाटक का विकास संभव नहीं है. शाह ने सभा में आए लोगों से सवाल किया कि क्या उन्हें 24 घंटे बिजली मिलती है, क्या युवाओं के लिए नौकरियां हैं, गांवों में अस्पताल हैं?’’

भीड़ ने इसका जवाब नहीं में दिया, इस पर शाह ने कहा कि अगर आपका जवाब नहीं है तो सिद्धरमैया सरकार क्या कर रही है? शाह ने पीएम नरेंद्र मोदी को पावर जेनरेटर बताते हुए कहा कि कर्नाटक सरकार को ट्रांसफार्मर की तरह काम करना चाहिए. संवाददाता सम्मेलन में शाह ने कहा कि जेडीएस सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है क्योंकि वह केवल कुछ सीटों पर ही जीत हासिल कर सकती है और बीजेपी ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो कांग्रेस को हरा सकती है.

(इनपुट: पीटीआई)