नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से जम्मू एवं कश्मीर में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर को बर्खास्त करने की मांग की है. मीर ने कहा था कि कठुआ में एक बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या करने के मामले में हो रही जांच प्रेरित होकर की जा रही है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने संवाददाताओं से कहा, “मीर ने बयान दिया था कि स्थानीय जनता मानती है कि कठुआ मामले के मुख्य आरोपी अभी तक आजाद हैं और जांच अभिप्रेरित होकर की जा रही है तथा वे मामले को दबाना चाहते हैं.”

जावड़ेकर ने संवाददाताओं को एक वीडियो दिखाया जिसमें मीर को यह कहते हुए सुना जा रहा है, “किसी को बचाया जा रहा है. स्थानीय जनता मानती है कि जांच किसी एक पक्ष से प्रेरित है, मुख्य आरोपी को जाने दिया जा रहा है, वे अपनी राजनीतिक पहुंच का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं.”

ये भी पढ़ें. यूपी: बदमाश से फ़ोन पर ‘एनकाउंटर डील’ करने वाले इंस्पेक्टर की जा सकती है नौकरी, डीजीपी ने कहा- हम योजना बना रहे

केंद्रीय मंत्री ने गांधी से सवाल किया, “हम राहुल जी से पूछना चाहते हैं, दुष्कर्म के दोषियों के समर्थन में निकले जुलूस में शामिल हुए हमारे दो मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है. वे अपने नेता को कब निकालेंगे?” दुष्कर्म के आरोपियों के समर्थन में निकले जुलूस में शामिल होने वाले भाजपा के नेता चौधरी लाल सिंह और चंद्र प्रकाश गंगा ने शुक्रवार को अपने इस्तीफे दे दिए थे.

ये भी पढ़ें. दुष्कर्मियों के लिए फांसी की सजा जरूरी: फारुख अब्दुल्ला

कांग्रेस अध्यक्ष पर तंज कसते हुए जावड़ेकर ने कहा कि राहुल जी ने रात में एक मोमबत्ती जुलूस की अगुआई की थी लेकिन वे अपने नेता के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर रहे? उन्होंने कहा कि दूसरी पार्टी के नेताओं पर उंगली उठाना और अपने नेता को बचाना कांग्रेस की आदत है. भाजपा नेता ने कहा कि गांधी ने 2012 में निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले के बाद जुलूस क्यों नहीं निकाला था. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समय में हरियाणा के मिर्चपुर गांव में महिलाओं और दलितों पर अत्याचार के समय वे चुप क्यों थे? उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा को बदनाम करना चाहती है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने शासनकाल में कुछ नहीं किया. वे भाजपा को बदनाम करना चाहते हैं. वे चुनाव में हमारा मुकाबला नहीं कर सकते इसलिए वे चाल चल रहे हैं. (इनपुट-एजेंसी)