नई दिल्ली. दिल्ली से अमृतसर के बीच चलने वाली स्वर्ण शताब्दी में अब आपका सफर और सुहाना होगा. क्योंकि इस ट्रेन को नई सुविधाओं के साथ और अपग्रेड कर दिया गया है. पहले के मुकाबले इस ट्रेन में अब और आरामदायक सीटें, शानदार इंटीरियर, मॉड्यूलर टॉयलेट्स की सुविधा दी गई है. रेलवे ने अपने ‘ऑपरेशन स्वर्ण’ के तहत इस ट्रेन को ‘गोल्ड स्टैंडर्ड’ की बनाने की कोशिश की है. रेलवे ऑपरेशन स्वर्ण के तहत देश में चलने वाली सभी 15 शताब्दी और 14 राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों को नई सुविधाओं के साथ अपग्रेड कर रही है. हर शताब्दी और राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन को अपग्रेड करने पर रेलवे 50 लाख रुपए खर्च कर रही है. ट्रेनों के अपग्रेडेशन के पीछे रेलवे का उद्देश्य है कि यात्रियों के लिए ट्रेन का सफर ज्यादा से ज्यादा आरामदायक हो.

 

10 मानकों पर होता है ट्रेनों का अपग्रेडेशन
दिल्ली-अमृतसर शताब्दी सहित ऐसी अन्य ट्रेनों को 10 मानकों पर अपग्रेड किया जा रहा है. इन मानकों में ऑनबोर्ड साफ-सफाई, खूबसूरत इंटीरियर, मॉड्यूलर टॉयलेट, सुरक्षा व संरक्षा, ट्रेनों के चलने का समय और ऑनबोर्ड इंटरटेनमेंट शामिल है. इन्हीं मानकों के तहत दिल्ली-अमृतसर स्वर्ण शताब्दी पूरी तरह से नए लुक के साथ कल से यानी 7 अप्रैल से अपने निर्धारित रूट पर दौड़ेगी. इस ट्रेन के सभी 18 कोच को बाहरी और भीतरी तौर पर अपग्रेड किया गया है, ताकि यह हर लिहाज से यात्रियों के लिए पसंदीदा ट्रेन बन सके. उत्तर रेलवे के अधिकारियों के अनुसार इस मंडल के अधीन चलने वाली सभी शताब्दी और राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों में निकट भविष्य में सीसीटीवी कैमरे और जीपीएस युक्त पैसेंजर इंफॉर्मेशन सिस्टम लगाने की योजना है. दिल्ली-अमृतसर स्वर्ण शताब्दी में क्या-क्या नई सुविधाएं आपको मिलेंगी, आइए डालते हैं उन पर एक नजर.

Shatabdi-Upgrade

 

Shatabdi1

Shatabdi2

 

1- ट्रेन के बाहरी लुक को विनाइल-रैपिंग के साथ नया बनाया गया है.
2- ट्रेन के भीतर प्रवेश करने पर भी आपको खूबसूरत दरवाजे, गैंग-वे और टॉयलेट के आसपास की बेहतरीन जगह देखने को मिलेगी.
3- कोच के बाहर गंतव्य स्थान को दिखाने वाले साइन-बोर्ड और कोच नंबर का लुक भी बदला गया है.
4- कोच के अंदर नई पेंटिंग्स और तस्वीरें लगाई गई हैं जो स्थान के अनुसार उसकी संस्कृति की झलक आपको देगी.
5- ट्रेन के पैंट्री-एरिया में शेल्फ्स को बेहतर बनाया गया है साथ ही स्टोरेज के लिए भी अब ज्यादा जगह होगी.
6- कोच के अंदर पैसेंजर एनाउंसमेंट सिस्टम अब जीपीएस के साथ जोड़ दिया गया है. इससे संगीत का भी प्रसारण होगा.

Shatabdi3
7- ऊर्जा संरक्षण के लिए ट्रेन में बेहतर क्वालिटी की एलईडी लाइट्स लगाई गई है.
8- टॉयलेट की साफ-सफाई के लिए इसके दरवाजों पर लगी सूचना प्रणाली को भई अपग्रेड किया गया है.
9- ट्रेन के सभी कोच में अब मॉड्यूलर टॉयलेट होंगे.
10- यात्रियों के सामान रखने के लिए बने स्टोरेज सेक्शन पर एंटी-स्क्रैच फिल्म को कोटिंग की गई है.