नई दिल्ली: ‘ब्लू व्हेल’ चैलेंज गेम ने लोगों के दिल में दहशत पैदा कर दी है. यह गेम बच्चों को आत्महत्या के लिए उकसा रहा है. अब ब्लू वेल गेम की जांच दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) करेगी. अगर जरूरत पड़ी तो वह इस गेम को खुद खेलकर देखेगी और पता लगाएगी की आखिर एडमिन इसमें गेम खेलने वाले को कैसे सुसाइड करने के लिए मजबूर करता है.

ईओडब्ल्यू के एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि इस गेम की वजह से दिल्ली में अभी किसी की जान नहीं गई है. लेकिन इस तरह का एक मामला मुंबई में सामने आया था. दिल्ली पुलिस मुंबई पुलिस के साथ-साथ अपने स्तर पर जांच करेगी.

डीसीपी (साइबर क्राइम) एनेश राय ने कहा कि हमने अपने स्तर पर इस गेम की बारीकियों को जानने की कोशिशें शुरू कर दी हैं. उन्होंने कहा कि हमारी पूरी कोशिश रहेगी कि इस गेम की वजह से किसी की जान ना जाए.

डीसीपी ने कहा कि भले ही दिल्ली में अब तक यह गेम किसी की मौत का कारण न बना हो. लेकिन दिल्ली पुलिस चाहती है कि इसे रोका जाए और इसकी सच्चाई के बारे में लोगों को बताया जाए. सोशल मीडिया पर चल रहे ट्रेंड और विभिन्न साइट्स और वट्सऐप ग्रुप्स को भी पुलिस मॉनिटर कर रही है.

केरल और महाराष्ट्र में ब्लू व्हेल चैलेंज खेलते हुए दो युवाओं की आत्महत्या को देखते हुए गोवा पुलिस को ऑनलाइन गेम खेलने पर अपने बच्चों की सुरक्षा के लिए माता-पिता के लिए सलाह जारी करने को बाध्य होना पड़ा है.

माता-पिता को बच्चों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले कंप्यूटरों व मोबाइल फोन में अपने नियंत्रण के लिए साफ्टवेयर डालने को कहा गया है. साथ ही एप के इस्तेमाल को सीमित करने को कहा गया है.