नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि उनकी सरकार आने के बाद पिछले तीन साल में राष्ट्रीय राजधानी में भ्रष्टाचार के मामले कम हुए हैं क्योंकि जनता ने एक ईमानदार सरकार चुनी. आम आदमी पार्टी (आप) सरकार की तीसरी वर्षगांठ पर अरविंद केजरीवाल ने एक वीडियो संदेश के जरिए कहा कि पिछले तीन सालों में भ्रष्टाचार में कमी आई है क्योंकि दिल्ली की जनता ने ईमानदार सरकार को चुना है.

उन्होंने कहा कि सरकारी कोष का एक-एक पैसा बिजली, पानी, मोहल्ला क्लीनिक, अस्पतालों, सड़कों, स्कूल और कॉलेज के निर्माण और विकास में लगा. आप संयोजक ने कहा कि आपके अधिकारों के लिए हमें कई बाधाओं का सामना करना पड़ा, हम हर कदम पर लड़े और यहां तक ईश्वर ने हमारी मदद की.

ये भी पढ़ें- केजरीवाल ने की जेटली-गडकरी से मुलाकात, ट्विटर पर हुए ट्रोल

केजरीवाल ने कहा कि यह सच है कि जब आप सच्चाई और ईमानदारी के रास्ते पर चलते हैं तो सारी कायनात आपकी मदद करती है और मेरी सबसे बड़ी ताकत ईश्वर की कृपा और आप लोग हैं. मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि हम आगे भी ऐसे ही जनता की सेवा करते रहें.

उठापटक भरे तीन साल

साल 2015 में दिल्ली में विधानसभा चुनाव में आप ने 70 में से 67 सीटों पर जीत हासिल की थी. केजरीवाल सरकार का ये कार्यकाल विवादों और उठापटक से भरपूर रहा. केजरीवाल सरकार की उपराज्यपाल और केंद्र सरकार से कई मुद्दों पर असहमति बनी रही. इस दौरान आप की अंदरुनी राजनीति भी उफान पर रही. कपिल मिश्रा जैसे मंत्री पार्टी से बाहर कर दिए गए, तो कद्दवार नेता और आप का चेहरा रहे कुमार विश्वास भी हाशिए पर डाल दिए गए.

इस बीच ऑफिस ऑफ प्रॉफिट मामले में राष्ट्रपति ने 20 आप विधायकों को अयोग्य ठहरा दिया जिससे पार्टी को जबरदस्त झटका लगा. मामले की सुनवाई फिलहाल दिल्ली हाई कोर्ट में चल रही है. हालांंकि इस मामले में उसे राहत मिलने के आसार कम ही नजर आ रहे हैं. कोर्ट की सख्त टिप्पणियों ने अयोग्य ठहराए गए विधायकों की मुश्किलों में इजाफा ही किया है.

(आईएएनएस इनपुट)