नयी दिल्ली| राष्ट्रीय राजधानी का खान मार्केट दुनिया का 24वां सबसे महंगा खुदरा क्षेत्र है. भारत में दुकान किराये पर लेने के लिए खान मार्केट देश का सबसे महंगा स्थान बना हुआ है. कुशमैन एंड वेकफील्ड की रिपोर्ट के अनुसार महंगे खुदरा क्षेत्रों की सूची में खान मार्केट ने पिछली बार की तुलना में चार पायदान की छलांग लगाई है. खान मार्केट में मासिक किराया पिछले एक साल से 1,250 रुपये प्रति वर्ग फुट पर स्थिर है. इसके बावजूद इसकी रैंकिंग में सुधार हुआ है. वर्ष 2016 की रिपोर्ट में खान मार्केट दुनिया के महंगे खुदरा स्थलों की सूची में 28वें स्थान पर था.

दिल्ली-NCR 'इमरजेंसी' से बाहर, पहले से कम हुआ प्रदूषण का स्तर

दिल्ली-NCR 'इमरजेंसी' से बाहर, पहले से कम हुआ प्रदूषण का स्तर

खान मार्केट की रैंकिंग बढ़ने की वजह यह है कि दुनिया के कुछ प्रमुख बाजारों में किराये में कमी आई है. इस सूची में न्यूयॉर्क का अपर फिफ्थ एवेन्यू पहले स्थान पर कायम है. हांगकांग का कॉजवे बे दूसरे तथा लंदन का बांड स्ट्रीट तीसरे स्थान पर हैं. वार्षिक सर्वे में 66 देशों में 400 खुदरा गंतव्यों का आकलन किया गया है.

कुशमैन एंड वेकफील्ड के कंट्री प्रमुख और प्रबंध निदेशक-भारत अंशुल जैन ने कहा कि भारत के खुदरा क्षेत्र में सतर्कता का रुख बना हुआ है. हालांकि, देश के कुछ प्रमुख बाजारों तथा शॉपिंग केंद्रों में लीजिंग गतिविधियों में कुछ तेजी देखने को मिली है.

एशिया प्रशांत में भारतीय बाजारों का प्रदर्शन बेहतर रहा है. खान मार्केट 11वें स्थान पर है. गुरुग्राम का डीएलएफ गैलेरिया 19वें और मुंबई का लिंकिंग रोड 20वें स्थान पर है. जहां तक किराये में बढ़ोतरी की बात है तो नयी दिल्ली के कनॉट प्लेस में सालाना आधार पर किराया सबसे अधिक 11.8 प्रतिशत बढ़कर मासिक 950 रुपये प्रति वर्ग फुट हो गया.