नई दिल्ली। एलओसी पर फायरिंग को लेकर आज भारत और पाकिस्तान के डीजीएमओ के बीच बैठक हुई. इसमें भारत ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देकर साफ कर दिया कि वह सीमा पार गोलीबार का मुमकिन जवाब देगा. सैन्य अभियानों के महानिदेशक (डीजीएमओ) लेफ्टिनेंट जर्नल ए के भट्ट ने आज अपने पाकिस्तानी समकक्ष से बात की और उन्हें यह संदेश दिया कि भारत को नियंत्रण रेखा पर सीमा पार से होने वाली गोलीबारी पर जवाबी कार्रवाई करने का अधिकार है.

सेना के एक अधिकारी ने कहा कि दोनों डीजीएमओ ने जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा की मौजूदा स्थिति पर चर्चा की. सैन्य अभियानों के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जर्नल ए के भट्ट ने आज अपने पाकिस्तानी समकक्ष से टेलीफोन पर की गई बात में कहा कि भारतीय थलसेना नियंत्रण रेखा पर शांति कायम रखने के प्रति गंभीर है.

थलसेना के प्रवक्ता लेफ्टीनेंट कर्नल अमन आनन्द ने कहा कि डीजीएमओ ने यह बात स्पष्ट रूप से कही कि भारतीय थलसेना किसी भी संघर्षविराम पर जवाबी कार्रवाई के अधिकार को सुरक्षित रखती है किन्तु वह नियंत्रण रेखा पर शांति कायम रखने के अपने प्रयासों को लेकर गंभीर है बशर्ते सामने के पक्ष से भी ऐसा ही हो.

जून में संघर्ष विराम उल्लंघन की 23 घटनाएं हो चुकी हैं. इनमें एक घटना बॉर्डर एक्शन टीम के हमले की और दो घटनाएं पाकिस्तान की घुसपैठ की कोशिश की थीं. इनमें तीन जवानों समेत चार लोग मारे गए थे और 12 लोग घायल हो गए थे.

भारतीय जवान शहीद

इस बीच एलओसी पर पाकिस्तान की गोलीबारी के कारण भारतीय जवानों और नागरिकों के मारे जाने का सिलसिला जारी है. आज सुबह पाक की ओर से फायरिंग में एक जवान और 5 साल की एक बच्ची की मौत हो गई. जम्मू कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिलों में आज नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना ने भीषण गोलीबारी की और मोर्टार दागे जिससे सेना के एक जवान और 9 साल की बच्ची सोफिया की मौत हो गई. गोलीबारी में तीन अन्य व्यक्ति घायल भी हो गए. भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की जिसके बाद दोनों ओर से भीषण गोलीबारी हुई.

पाकिस्तान को करारा जवाब

पाकिस्तान को संघर्ष विराम उल्लंघन का बड़ा खामियाजा उठाना पड़ा है. पाक सेना ने बताया कि एलओसी के पार से हुई संघर्ष विराम उल्लंघन की घटना में भारतीय सैनिकों ने उनके वाहन पर गोलीबारी की जिसके कारण उनके चार जवान नदी में डूब गए. पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने बताया कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में मुजफ्फराबाद से 73 किलोमीटर की दूरी पर स्थित आठमुकाम में नीलम नदी के पास चल रहे वाहन को निशाना बनाया गया.

गफूर ने बताया कि गोलीबारी से वाहन नदी में गिर गया और नियंत्रण रेखा संघर्ष विराम उल्लंघन की घटना में चार सैनिक मारे गए. एक सैनिक का शव बरामद कर लिया गया है जबकि चार में से तीन की खोज जारी है.

(भाषा इनपुट)